स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जल्द ही स्वीडन की गिरफ्त में आ सकते हैं जूलियन असांजे, तीन जून को अदालत सुनाएगी फैसला

Mohit Saxena

Publish: May 22, 2019 11:59 AM | Updated: May 22, 2019 18:37 PM

Europe

  • अभियोजको ने आरोप तय किए
  • असांजे ने जांच में सहयोग नहीं दिया
  • कोर्ट ने मामले को तेज चलाने को कहा

स्टॉहोम। स्वीडिश अदालत ने मंगलवार को कहा कि रेप के मामले में विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे पर तीन जून को सुनवाई होगी। ब्रिटेन से स्वीडन में उसके प्रत्यर्पण की मांग का यह पहला कदम होगा। जिला अदालत ने कहा कि जल्द और तेजी से सुनवाई के लिए संदिग्ध को भी अपने बचाव का मौका दिया जाना चाहिए। अभियोजक ईवा मैरी परसन ने सोमवार को कोर्ट में अर्जी दायर की। इसमें ब्रिटेन में कैद, 2010 के बलात्कार के आरोप में असांजे की अनुपस्थिति के चलते उसे हिरासत में लेने की मांग की गई है।

अमरीका: विवादित गर्भपात कानून के समर्थन में आए जो बिडेन, कहा-लोगों के निजी हितों की रक्षा जरूरी

जांच में सहयोग नहीं दिया

अदालत में सुनवाई के दौरान दलील दी कि बलात्कार के आरोपों को लेकर असांजे ने जांच में सहयोग नहीं दिया। किसी को उनकी अनुपस्थिति के कारणों का पता लगाना स्वीडिश कानूनी प्रक्रिया का एक मानक हिस्सा है। यदि कोई संदिग्ध देश के बाहर है या आने की स्थित में न हो। ऑस्ट्रेलियाई व्हिसलब्लोअर, जिन्होंने स्वीडन में ब्रिटिश प्रत्यर्पण आदेश से बचने के लिए लंदन के इक्वाडोर दूतावास में सात साल तक खुद को बचाया, उन्हें इक्वाडोर द्वारा त्याग दिए जाने के बाद ब्रिटिश पुलिस ने 11 अप्रैल को गिरफ्तार कर लिया था।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..