स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बोइंग ने मानी गलती, 737 मैक्स के डिजाइन में कई खामियां

Siddharth Priyadarshi

Publish: Jun 17, 2019 11:10 AM | Updated: Jun 17, 2019 21:20 PM

Europe

  • इंडोनेशिया और इथियोपिया में दुर्घटनाग्रस्त हुए थे दो मैक्स विमान
  • दो हादसों के बाद मैक्स 737 की उड़ान पर लगा प्रतिबंध

पेरिस। दो बड़े हादसों के बाद निशाने पर आए 737 मैक्स 8 विमान की निर्माता कंपनी बोइंग ने कहा है कि विमान के डिजाइन में कुछ बड़ी तकनीकी खामियां थीं। कंपनी का कहना है कि इंडोनेशिया और इथियोपिया जैसी दुर्घटनाओं के बाद भी हमसे कई गलतियां हुई हैं। दुनिया की सबसे बड़ी विमान निर्माता कंपनी के चैयरमैन और मुख्य कार्यकारी डेनिस मुइलबेनबर्ग ने कहा कि हम इन खामियों में सुधार कर रहे हैं और हम चाहते हैं कि जब हम सेवा में वापस आ जाएं तो हम पहले की तरह सबसे लोकप्रिय पसंद बने रहें।

 

 

max 737 crash Ethiopia

विमान निर्माता कंपनी बोइंग के लिए बढ़ रही मुश्किल, प्रतिद्वंदी एयरबस ने चीन से किया करार

मैक्स के डिजायन में थीं कई खमियां

बोइंग हेड ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि 737 मैक्स प्लेन में हम 'गलती' कर गए। हालांकि इथियोपिया हादसे के बाद बोइंग का कहना था कि 737 MAX को डिज़ाइन करते समय उन्होंने प्रक्रियाओं का पालन किया था। बोइंग ने रविवार को कहा कि 737 MAX पर कॉकपिट चेतावनी प्रणाली को लागू करने में गलती की गई। उन्होंने यह भी माना कि दो घातक दुर्घटनाओं के मद्देनजर ग्राहकों के विश्वास को फिर से बनाने में समय लगेगा। अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी डेनिस मुइलेनबर्ग ने कहा कि बोइंग नियामकों और ग्राहकों के साथ संवाद करने में विफल रहा है। बता दें कि इससे पहले मैक्स विमान की दुनिया भर में ग्राउंडिंग के बाद बोईंग ने कंट्रोल सॉफ्टवेयर के इंजीनियरिंग और डिजाइन दृष्टिकोण का बचाव किया था ।

max 737 8

दुनिया भर में बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों पर रोक, ट्रंप की घोषणा के बाद हुआ फैसला

जून के अंत तक वापस उड़ान भरेगा मैक्स

बोईंग ने इसके साथ ही इस बात का एलान किया कि मैक्स इस साल सेवा में वापस आ जाएगा। खबरों में कहा गया है कि बोइंग मैक्स 8 जेट जून के अंत तक हवा में वापस हो सकता है। उधर अमरीकी विमानन नियामक द्वारा बोइंग 737 मैक्स 8 जेट के लिए सेवा में वापसी पर जल्द हस्ताक्षर करने की उम्मीद है। अगर ऐसा हुआ तो अमरीका वह पहला देश होगा जो बोईंग 737 मैक्स को उड़ान की फिर से इजाजत देगा।

यह पूछे जाने पर कि एमसीएएस नियंत्रण सॉफ्टवेयर और तमाम सेंसर विमान की खामियों को पकड़ने में कैसे विफल रहे, इस पर कंपनी ने कहा है कि "स्पष्ट रूप से यह हमारी गलती थी। हम इसमें सुधार कर सकते हैं और हम ऐसा जरूर करेंगे।

 

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..