स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सब्जी विक्रेता की लगी लॉटरी, बैंक खाते में आ गये चार करोड़ रुपए, जानें- कैसे हुआ यह चमत्कार, देखें वीडियो

Hariom Dwivedi

Publish: Jul 17, 2019 16:07 PM | Updated: Jul 18, 2019 12:23 PM

Etawah

- भारतीय स्टेट बैंक लवेदी की शाखा का मामला
- सब्जी विक्रेता के बैंक खाते में पहुंचे करीब चार करोड़ रुपए
- बैंक मैनेजर को मिली सूचना, तुरंत उठाया यह कदम

इटावा. जिले के लवेदी गांव का दीपक सिंह राजावत रोजाना की तरह भारतीय स्टेट बैंक (SBI) गया था। कुछ पैसे निकाले और फिर पासबुक एंट्री कराई। बैंक स्टेटमेंट देखते ही उसकी आंखें खुली की खुली रह गईं। उसे यकीन नहीं हो रहा था कि उसके बैंक खाते में 3 करोड़ 94 लाख रुपये हैं। आंखें मलीं और धड़कते दिल से फिर पासबुक खोली। बैंक के एक कोने में गया और इकाई, दहाई, सैकड़ा, हजार... करोड़ करके उसे कई बार गिना। गिनतियां बता रही थीं कि वह करोड़पति बन चुका है।

दीपक मारे खुशी के पागल हुआ जा रहा था। हो भी क्यों न? जिसके पास परिवार चलाने भर की पूंजी ठीक से न हो और उसके बैंक अकाउंट में अचानक करोड़ों रुपए आ जाएं। सोचिये उसका क्या हाल होगा। अगले ही पल वह सुनहरे भविष्य का ताना-बाना बुनने लगा। घरवालों और परिजनों को भी जानकारी दी। चेहरे की खुशी और दिल की धड़कन उससे छिपाये नहीं जा रही थी। जानकारी ब्रांच मैनेजर को हुई तो उन्होंने तुरंत बैंक से लेनदेन करने पर रोक लगा दी।

यह भी पढ़ें : विदेशों में ही हो सकता है मासूम देव का इलाज, सीएम ऑफिस से मिली 5 लाख की मदद, डॉक्टरों ने कहा- दो करोड़ चाहिए

गांव में सब्जी बेचता है दीपक
इटावा जिले के छोटे से गांव लवेदी का दीपक गांव में सब्जी की छोटी सी दुकान चलाता है। भारतीय स्टेट बैंक लवेदी में उसका बचत खाता है। सोमवार को खाते से लेनदेन के बाद उसने पासबुक में एंट्री कराई तो अकाउंट में 3 करोड़ 94 लाख रुपए देखकर उसकी आंखें खुली की खुली रह गईं। बैंक मैनेजर से संपर्क किया तो बैंक ने तुरंत ही उसके खाते से लेनदेन पर बैन लगा दिया।

बैंक मैनेजर ने बताया सर्वर इरर
बैंक मैनेजर विजय कुमार ने बताया कि खातेदार के अकाउंट में 39 हजार रुपए हैं। सर्वर में इरर के कारण पासबुक में गलत एंट्री हो गई थी, जिसे सही करा दिया गया है। फिलहाल, खाता होल्ड पर है, जिसे सही होने के बाद वह पहले की तरह बैंक से लेनदेन कर सकेगा।

यह भी पढ़ें : दहशत के अंधेरे में तालीम की रोशनी फैला रही पुलिस, ताकि फिर कोई न बने डकैत