स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रामशंकर कठेरिया ने बीडीओ, एडीओ, सचिवों की बैठक कर ली क्लास, दिए ये कड़े निर्देश

Neeraj Patel

Publish: Sep 13, 2019 20:36 PM | Updated: Sep 13, 2019 20:36 PM

Etawah

भारत की आत्मा गांव में बसती है, जब तक गांव के गरीब,निर्धन, असहाय व्यक्तियों का विकास नहीं होगा तब तक देश के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है।

इटावा. भारत की आत्मा गांव में बसती है, जब तक गांव के गरीब,निर्धन, असहाय व्यक्तियों का विकास नहीं होगा तब तक देश के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है। समर्थ गांव, समर्थ भारत की कल्पना तब तक नहीं कर सकते जब तक हमारे गांव समर्थ नहीं बनेंगे तब तक भारत समर्थ नहीं हो सकता है। यह बात इटावा के सांसद और अनूसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष डा0 रामशंकर कठेरिया ने विकास भवन के सभागार में बीडीओ, एडीओ, सचिवों के साथ आयेाजित बैठक में कही।

उन्होंने कहा कि आजादी के बाद हमारे देष से काफी उन्नति की है काफी विकास कार्य हुए है। परन्तु अभी भी ग्राम पंचायतेां के कुछ मजरे विकास से वंचित है। केन्द्र/प्रदेश सरकार द्वारा संचालित जन कल्याणकारी येाजनाओं का लाभ पात्रों तक बिना भेदभाव के पहुंचाने का जिम्मा ग्राम स्तरीय अधिकारियों को सौंपा गया है इसलिए सभी ग्राम स्तरीय अधिकारी अपने दायित्वों का बखूबी निर्वहन करें और जन कल्याणकारी येाजनाओं में पात्रों को बिना भेदभाव के लाभान्वित करें।

बच्चों को प्रतिदिन विद्यालय भेजने के लिए करें जागरूक

सांसद ने कहा कि गांव में लोगों को स्वच्छता अपनाने, प्लास्टिक प्रयोग से होने वाले दुष्परिणामों के बारे में, पर्यावरण को संरक्षित करने, बच्चों को प्रतिदिन विद्यालय भेजने, के लिए जागरूक किया जाए। उन्होेने उपस्थित सभी ग्राम स्तरीय अधिकारियों से कहा कि गांव के विकास में आप लोगों की बहुत ही महती भूमिका है आप जहां जिस पद पर है अपनी अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करें, तो निष्चित ही गांव में विकास में तेजी आएगी। उन्होंने कहा कि ग्रामवासियों को जागरूक किया जाए कि वह अपने घर से निकलने वाले कूड़ा करकट को इधर उधर न फेंके बल्कि एक निर्धारित स्थान पर ही डालें अपने घर के सामने व नालियों की सफाई रखें, गांव में सभी लोग मेल मिलाप से रहे आपस में लड़ाई झगड़ा न करें, आपस में बैठकर गांव के विकस की बात करें तभी गांव उन्नति के पथ पर आगे बढ़ेगा।

जब तक गांव के लोग स्वयं आदर्ष नहीं बनेगें तब तक चाहे जितने संसाधन उपलब्ध करा दिए जाए गांव आदर्ष नहीं बन सकते। जो जिम्मेदारी सौंपी गई है उसे सेवाभाव से मिषनरी के साथ करें तो अच्छे परिणाम आएंगे। यदि सभी लोग सेवाभाव से समर्पित होकर कार्य करेंगें तो जनपद की तस्वीर बदल सकती है, गांव को आदर्ष गांव बनाने में सबसे अहम भूमिका गांव स्तरीय अधिकारियों की हेाती है। प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी ने उज्ज्वला योजना के अर्न्तगत निःशुल्क लगभग 08 करोड़ गैस कनेक्षन प्रदान किये। स्वच्छता अभियान के अर्न्तगत स्वच्छ षौचालय बनवाये गये जो भी पात्र लाभार्थी येाजना का लाभ पाने से वंचित रह गये हैं उन्हें भी लाभ मिलेगा।

लोगों में पैदा करनी होगी जागरूकता पैदा

जिलाधिकारी जे0बी0 ने उपस्थित खण्ड विकास अधिकारियो, सचिवों, एडीओ पंचायत को सम्बोधित करते हुए कहा कि बिना भेदभाव के कार्य करें, आप लोग गांव के विकास की रीढ़ है, सामाजिक बुराइयों के प्रति, शराब पीने वालों को जागरूक किया जाये कि यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, शासन द्वारा संचालित जन कल्याणकारी येाजनाओं का लाभ पात्रों को बिना भेदभाव के उपलब्ध करायें,जल संरक्षण के लिए जागरूक करें, जल ही जीवन है धरती है तो जीवन है,जल का दुरपयोग न करें ,पानी को व्यर्थ न बहायें,टोटियां खुली न छोड़े इसके प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करनी होगी।

ये लोग रहे मौजूद

मुख्य विकास अधिकारी राजा गणपति आर0 ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि दिये गये निर्देष्ेाा का अक्षरषः पालन सुनिष्चित कराया जायेगा, सड़क, शौचालय, प्रधानमंत्री आवास येाजना के लाभार्थियों को बिना भेदभाव के लाभान्वित किया जायेगा, जो भी निर्माण होगे वह पूर्ण गुणवत्ता व मानक के अनुसार पूरे कराये जाएंगे। इस अवसर जिला विकास अधिकारी दीन दयाल वर्मा, परियोजना निदेषक डीआरडीए उमाकान्त त्रिपाठी, डीसीएनआरएलएम बृजमोहन अम्बेड, सहायक जिला पंचायतराज अधिकारी रोहित कुमार सहित समस्त खण्ड विकास अधिकारी, सचिव, एडीओ पंचायत आदि उपस्थित रहे।