स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डीजीपी समीक्षा में रहे बिजी, 25 पुलिसजन कालका मेल में बिना टिकट करते रहे यात्रा

Abhishek Gupta

Publish: Dec 04, 2019 22:02 PM | Updated: Dec 04, 2019 22:02 PM

Etawah

उत्तर प्रदेश पुलिस के मुखिया ओ.पी.सिंह बुधवार को इटावा में समीक्षा बैठक करते रहे, वहीं उनके 25 पुलिसकर्मी कालका मेल में बिना टिकट यात्रा करते हुए पकड़े गए।

इटावा . उत्तर प्रदेश पुलिस के मुखिया ओ.पी.सिंह बुधवार को इटावा में समीक्षा बैठक करते रहे, वहीं उनके 25 पुलिसकर्मी कालका मेल में बिना टिकट यात्रा करते हुए पकड़े गए। इस वाक्ये को बड़े ही हैरत के साथ इसलिए भी देखा जा रहा है क्योंकि राज्य पुलिस प्रमुख की ओर से भी इस बात के साफ संकेत दिए गए थे कि कोई भी पुलिस कर्मी रेल गाड़ियों में समुचित टिकट के साथ ही यात्रा करेगा, लेकिन इसका पालन करते हुए पुलिस जन नहीं दिख रहे हैं।

टूंडला से इटावा तक डीटीएम व सीआईटी रेड के नेतृत्व में बिना टिकट यात्रा करने वाले पुलिस कर्मियों के विरूद्ध अभियान चलाया गया था। इस अभियान में पकड़े गए पुलिस कर्मियों से 11 हजार 730 रूपए का जुर्माना भी वसूला गया। डीटीएम के मुताबिक इस प्रकार का अभियान आगे भी जारी रहेगा। ट्रेनों में बिना टिकट यात्रा करने में पुलिस कर्मी अपनी शान समझते हैं। इतना ही नहीं, आए दिन उनके द्वारा चेन पुलिंग करके ट्रेनों को भी रोका जाता है। इससे रेल यातायात प्रभावित होता है। हालांकि आरपीएफ द्वारा एसएसपी को पत्र लिखकर कहा गया था कि चेन पुलिंग व बिना टिकट यात्रा करने वाले पुलिस कर्मियों पर अंकुश लगाया जाए लेकिन इसके बाद भी पुलिस कर्मियों की आदतों में कोई सुधार नहीं हो रहा था। रेलवे के द्वारा समय-समय पर मजिस्ट्रेट चेकिंग कराई जाती है और काफी लोग बिना टिकट पकडेे जाते है। एक सप्ताह पूर्व हुई इसी प्रकार की चेकिंग में 103 बिना टिकट यात्री पकडे गए थे।

बुधवार को खास तौर से बिना टिकट यात्रा करने वाले पुलिस कर्मियों के विरूद्ध अभियान चलाया गया। डीटीएम टूंडला समर्थ गुप्ता व सीआईटी रेड डीके दीक्षित के साथ टीटी स्टाफ ने कालका से हावडा जाने वाली गाडी संख्या 2312 डाउन कालका मेल में अभियान चलाया तो इस दौरान 25 पुलिस कर्मी बिना टिकट पकडेे गए। पकडे गए पुलिस कर्मियों में इंस्पेक्टर व सबइंस्पेक्टर से लेकर सिपाही तक शामिल थे। इन सभी से 11 हजार 730 रूपए का जुर्माना वसूला गया। डीटीएम सर्मथ गुप्ता ने बताया कि पुलिस कर्मियों के विरूद्ध रेलवे का अभियान आगे भी जारी रहेगा।

[MORE_ADVERTISE1]