स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रघुराम राजन ने किया खुलासा, इस वजह से नहीं बन सके बैंक ऑफ इंग्लैंड के गवर्नर

Ashutosh Kumar Verma

Publish: Jul 20, 2019 19:12 PM | Updated: Jul 21, 2019 08:38 AM

Economy

  • बैंक ऑफ इंग्लैंड के गवर्नर पद की रेस में था रघुराम राजन का नाम।
  • कहा- ब्रेग्जिट की वजह से बदलते राजनीतिक परिस्थितियों की वजह से नहीं किया आवेदन।

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक ( reserve bank of india ) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ( Raghuram Rajan ) बैंक ऑफ इंग्लैंड ( bank of england ) के गवर्नर नियुक्त नहीं किये जाने को लेकर खुलासा किया है। राजन बीबीसी को दिये एक इंटरव्यू में कहा कि ब्रेग्जिट की वजह से राजनीतिक परिस्थितियां कुछ ऐसी बनीं गई कि मैने बैंक ऑफ इंग्लैंड के गवर्नर पद के लिए आवेदन नहीं किया।

इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि आप बैंक ऑफ इंग्लैंड के गवर्नर क्यों नहीं बने तो उन्होंने कहा, "मुझे इस पद के बारे में पता था लेकिन हाल के दिनों में केंद्रीय बैंक राजनीति परिस्थितियों से काफी प्रभावित हुआ।"

यह भी पढ़ें - मोदी 2.0 के 50 दिन, निवेशकों को 9 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान

मार्क कार्नी जनवरी माह तक ही है बैंक ऑफ इंग्लैंड के गवर्नर

गौरतलब है कि यूके सरकार मार्क कार्नी के बाद अगले गवर्नर के बारे में तलाश कर रही है। मार्क कार्नी अलगे साल जनवरी माह में पद से हट जायेंगे। ब्रेग्जिट को लेकर बहस और आर्थिक स्थिरत को लेकर उन्हें कई बार मौद्रिक नीतियों में बदलाव भी करना पड़ा। इस दौरान कई ब्रिटिश नेताओं ने उनकी आलोचना भी किया कि ब्रेग्जिट को लेकर कार्नी काफी निराशावादी हैं। उन्हें इस बात का डर है यूरोपियन यूनियन से अलग होने के बाद आर्थिक खतरा बढ़ जायेगा।

यह भी पढ़ें - लगातार 11वें साल भी मुकेश अंबानी ने नहीं बढ़ाया अपना वेतन, फिर भी पत्नी नीता अंबानी से इतनी अधिक है सैलरी

राजन रह चुके हैं आईएमएफ के चीफ इकोनॉमिस्ट

राजन ने कहा, "मौजूदा समय को देखते हुए यह सबसे जरूरी है कि बैंक ऑफ इंग्लैंड के गवर्नर पद के लिए एक ऐसा व्यक्ति हो जो यहां की राजनीति परिस्थितियों को बेहतर ढंग से समझ सके।" भारतीय रिजर्व बैंक के पद से हटने के बाद राजन शिकागो बूथ स्कूल ऑफ बिजनेस में पढ़ाते हैं। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में भी वो चीफ इकोनॉमिस्ट के पद पर भी रह चुके हैं।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.