स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सरकार आने से पहले ही वित्त मंत्रालय ने तैयार कर लिया आगामी 100 दिनों का एजेंडा, होंगे ये बड़े काम

Shivani Sharma

Publish: May 23, 2019 11:23 AM | Updated: May 23, 2019 11:23 AM

Economy

  • वित्त मंत्रालय ने नई सरकार के लिए 100 दिन का एजेंडा तैयार कर लिया है
  • मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि आने वाली सरकार इसी एजेंडे पर काम करेगी
  • 2018-19 की तीसरी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ फिसलकर 6.6 फीसदी पर आ गई थी। इसी को ध्यान में रखकर ये फैसला लिया गया है

नई दिल्ली। वित्त मंत्रालय ने नई सरकार के लिए 100 दिन का एजेंडा तैयार कर लिया है। इकोनॉमी की रफ्तार बढ़ाने के तहत यह एजेंडा तैयार किया गया है। 2018-19 की तीसरी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ फिसलकर 6.6 फीसदी पर आ गई थी ऐसा आगे न हो, जिसके कारण से मंत्रालय की ओर से ये कदम उठाया गया है। मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार निजी निवेश, रोजगार बढ़ाना और फार्म सेक्टर को राहत पहुंचाना भी सरकार का प्रमुख एजेंडा होगा।


लिए जा सकते हैं कई अहम फैसले

इसके साथ ही प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर संग्रह बढ़ाने और टैक्स प्रक्रिया को आसान बनाने पर भी फोकस रहेगा। इसका सीधा लाभ आम जनता को मिलेगा। जुलाई में पेश होने वाले पूर्ण बजट में आयकर स्लैब और आयकर की दरों में बदलाव का फैसला भी लिया जा सकता है। मोदी सरकार के अंतरिम बजट में इसके संकेत दिए गए थे।


ये भी पढ़ें: मोदी की जीत की लहर से गुलजार हुआ बाजार, पहली बार सेंसेक्स हुआ 40 हजार के पार


इंडस्ट्रियल सेक्टर में होगी ग्रोथ

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इंडस्ट्रियल ग्रोथ, क्रेडिट ग्रोथ और बैंकिंग सेक्टर में स्थिरता लाने जैसे मुद्दे भी 100 दिन के एजेंडे में शामिल होंगे। बैंकिंग सेक्टर में कॉरपोरेट गवर्नेंस का स्तर सुधारने पर भी फोकस रहेगा। इसके साथ ही देश के युवाओं को ध्यान में रखकर भी कई काम किए जाएंगे, जिसका फायदा सभी को मिलेगा।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.