स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस जड़ी बूटी के ये 10 फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान, उम्र ढलने पर भी दमकती रहेगी त्वचा

Soma Roy

Publish: Nov 02, 2019 16:58 PM | Updated: Nov 02, 2019 16:58 PM

Dus Ka Dum

  • Ayurvedic TIps : स्किन को लंबे समय तक टाइट रखने में मददगार है ये चूर्ण

नई दिल्ली। बढ़ते पॉल्यूशन और खान-पान में मिलावट के चलते लोगों में वक्त से पहले ही बुढ़ापा आ जाता है। ऐसे में सबसे ज्यादा नुकसान हमारी त्वचा को पहुंचता है। इससे स्किन बेजान और रूखी हो जाती है। इस समस्या से बचने के लिए शतावर नामक जड़ी बूटी का सेवन बहुत लाभकारी हो सकता है। ये स्किन के अलावा दूसरे रोगों के लिए भी फायदेमंद है।

[MORE_ADVERTISE1]

1.शतावर जड़ी बूटी के पाउडर को गुलाब जल से चेहरे पर लगाने से ये एक क्लीनजर का काम करता है। इससे झाइयां एवं काले दाग दूर हो जाते हैं।

2.अगर किसी के मुहासे हो तो शतावर पाउडर को दूध में मिलाकर इसका पेस्ट लगाएं। ये बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करेगा।

3.शतावर घावों को भरने का भी काम करता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट एवं ग्लूटाथियोन त्वचा को सूरज की अल्ट्रा वॉयलट किरणों से और प्रदूषण के पार्टिकल्स से बचाता है।

4.शतावर में एंटीऑक्सिडेंट और ग्लूटाथियोन नामक तत्व होते हैं जो उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर देते हैं। इसे रोजाना रात को एक गिलास दूध के साथ एक चम्मच लेने पर स्किन हमेशा टाइट रहती है।

5.शतावर में फोलेट तत्व भी भरपूर मात्रा में होता है। इससे शरीर में विटामिन बी 12 की कमी पूरी होती है।

[MORE_ADVERTISE2]

6.ये शारीरिक कमजोरी को दूर करने में भी असरदार साबित होता है। अगर रोजाना आधा चम्मच शतावर पाउडर को रोज सुबह या रात को गुनगुने दूध के साथ लें तो अन्य शारीरिक कमियां दूर हो जाएंगी।

7.शतावर चूर्ण और मिश्री को एक साथ पीसकर रोज इसकी पांच ग्राम मात्रा गाय के दूध के साथ लें। ऐसा करने से ताकत आती है। साथ ही शरीर में खून की कमी दूर होती है।

8.जिन लोगों को मूत्राशय संबंधित दिक्कतें होती हैं उन्हें शतावर चूर्ण को आधा चम्मच गोखरू पाउडर के साथ लेना चाहिए। इससे पेशाब में जलन, खून आना आदि दिक्कतें दूर होती हैं।

9.शतावर चूर्ण में सल्फोराफेन नामक तत्व होता है। ये कैंसर से बचने में मदद करता है।

10.शतावर में एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इन्फ्लमाट्री तत्व होते हैं। इसमें कई घुलनशील फाइबर होते हैं। इसके प्रयोग से

[MORE_ADVERTISE3]