स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

देवउठनी एकादशी के दिन भूलकर भी न करें ये 10 काम, बन सकते हैं पाप के भागीदार

Soma Roy

Publish: Nov 07, 2019 13:56 PM | Updated: Nov 07, 2019 13:56 PM

Dus Ka Dum

  • Dev Uhani Ekadashi 2019 : 8 नवंबर को है देवउठनी एकादशी, तुलसी विवाह में ध्यान रखें ये बातें
  • चावल समेत इन चीजों का करें त्याग

नई दिल्ली। देवउठनी एकादशी के दिन विष्णु जी चार महीने के शयनकाल के बाद जागते हैं। इस दिन तुलसी विवाह की परंपरा निभाई जाती है। देवउठनी एकादशी हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मनाई जाती है। इस बार यह पर्व 8 नवंबर यानि कल पड़ रही है। एकादशी को विष्णु पूजन करते समय कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए वरना अपशगुन हो सकता है।

[MORE_ADVERTISE1]

1.देवउठनी एकादशी के दिन तुलसी विवाह कराया जाता है। इसलिए इस दिन भूलकर भी तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए। ऐसा करने से आपका दुर्भाग्य आ सकता है।

2.देवउठनी एकादशी के दिन चावल नहीं खाना चाहिए क्योंकि एकादशी में चावल का प्रयोग वर्जित माना जाता है। इससे पूजन का शुभ फल नहीं मिलता है।

3.एकादशी के दिन देर तक नहीं सोना चाहिए। वरना आपकी किस्मत आपसे रूठ सकती है।

4.देवउठनी एकादशी के दिन मां लक्ष्मी और विष्णु भगवान की भी पूजा की जाती है। इसलिए इस दिन घर को गंदा नहीं रखना चाहिए। ऐसा करने से धन की बर्बादी बढ़ सकती है।

5.इस दिन किसी से झगड़ा नहीं करना चाहिए और न ही दूसरों को अपशब्द कहना चाहिए। ऐसा करने से विष्णु भगवान नाराज हो सकते हैं।

[MORE_ADVERTISE2]pujan1.jpeg[MORE_ADVERTISE3]

6.विष्णु जी की पूजा करने से भाग्योन्नति होती है। मगर इस दिन किसी ब्राम्हण या बुजुर्ग का अपमान नहीं करना चाहिए। वरना तरक्की के रास्ते बंद हो सकते हैं।

8.देवउठनी एकादशी के दिन अन्न का अपमान नहीं करना चाहिए। वरना मां अन्नपूर्णा नाराज हो सकती हैं। इससे घर में अन्न और धन की किल्लत हो सकती है।

9.इस दिन घर आए किसी गरीब को खाली हाथ नहीं जाना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से विष्णु जी अप्रसन्न हो सकते हैं।

10.एकादशी का व्रत रखने वालों को इस दिन झूठ नहीं बोलना चाहिए। इस बात पर ध्यान न देने से व्यक्ति पाप का भागीदार बन सकता है।