स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बर्थडे स्पेशल : ऊषा उत्थुप को भूत कहकर उड़ाया गया था मजाक, आज हैं इन 10 वजहों से कामयाब

Soma Roy

Publish: Nov 08, 2019 13:34 PM | Updated: Nov 08, 2019 13:35 PM

Dus Ka Dum

  • Usha Uthup Birthday : आज ऊषा उत्थुप अपना 72वां जन्मदिन मना रही हैं, उन्हीं इंडियन पॉप संगीत का सरताज माना जाता है
  • ऊषा उत्थुप को शुरुआती दौर में अपने लुक्स के लिए काफी आलोचनाएं झेलनी पड़ी थी

नई दिल्ली। इंडियन पॉप इंडस्ट्री में अपनी छाप छोड़ने वाली मशहूर गायिका ऊषा उत्थुप को भला कौन नहीं जानता। उनके गाए हरे कृष्णा हरे काम, वन टू चा चा चा गाने आज भी लोगों की जुबां पर कायम हैं। ऊषा उत्थुप आज अपना 72वां जन्मदिन मना रही है। इस मौके पर हम आपको उनसे जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में बताएंगे।

[MORE_ADVERTISE1]

1.ऊषा उत्थुप भले ही आज इंडस्ट्री का एक जाना पहचाना नाम है। मगर करियर के शुरुआती दौर में उन्हें अपने लुक्स को लेकर काफी कुछ सुनना पड़ा था। एक रिपोर्टर ने ऊषा को भूत कहकर भी मजाक उड़ाया था। इस बात का खुलासा ऊषा उत्थुप ने खुद एक इंटरव्यू में किया था।

2.ऊषा उत्थुप को शुरू से ही कांचीवरम साड़ी पहनना और बड़ी बिंदी लगाना पसंद था। वो पहले ज्यादातर बाल खोलकर रखती थीं। मगर बॉलीवुड में एक मुकाम हासिल करने के बाद उन्होंने अपने लुक में काफी बदलाव किए। हालांकि उन्होंने अपने पुराने अंदाज को नहीं छोड़ा।

3.ऊषा उत्थुप ने एक इंटरव्यू में बताया था कि शुरुआती दौर में जब वो कोलकाता में एक परफार्मेंस देने गई थीं तब उन्हें काफी विरोध का सामना करना पड़ा था। क्योंकि लोगों की धारणा थी कि पॉप गाने वाले रब्रिंद संगीत नहीं गा सकते हैं। मगर उन्होंने बंगाली गाने गाकर वहां मौजूद लोगों की सोच बदल दी थी।

4.ऊषा उत्थुप ने इस धारणा को भी तोड़ा था जिसमें लोगों का मानना था कि नाइट क्लब में रबींद्र संगीत नहीं गाया जा सकता है। ऊषा ने 'Trincas' में बंगाली पारंपरिक गीत गाकर इस मानसिकता को बदला था। इतना ही नहीं उनके गाने को सुनने अमिताभ बच्चन, बंगाली एक्टर उत्तम कुमार और सुप्रिया देवी जैसी बड़ी कलाकार आती थीं।

5.ऊषा उत्थुप को बड़ी कामयाबी भले ही बॉलीवुड में गायिकी के चांस से मिला हो मगर उनकी आवाज की दीवाने शुरू से ही लोग रहे हैं। वह पहले नाइट क्लबों में गाने गाया करती थीं।

[MORE_ADVERTISE2]uthup.gif[MORE_ADVERTISE3]

7.ऊषा उत्थुप को आज भी क्लबों में गाने गाना ज्यादा पसंद है। क्योंकि उनका मानना है कि जो मजा उन्हें लाइव परफॅार्म करते हुए मिलता है वो उन्हें प्लेबैक सिंगिंग में नहीं मिलता है।

8.ऊषा उत्थुप के मुताबिक सीखने की चाहत रखने वालों के लिए लाइव गाना ज्यादा अच्छा रहता है। क्योंकि यहां रीटेक के आप्शन नहीं होते हैं। इसलिए शुरू से ही सिंगर को अच्छा गाना रहता है। जबकि प्लेबैक सिंगिंग में वे अपनी गलतियों को सुधार सकते हैं।

9.मुंबई में जन्मी ऊषा तमिल ब्राह्राण परिवार से हैं। बचपन से ही ऊषा की आवाज काफी भारी और अलग थी इसलिए कई लोगों ने उन्हें चांस देने से मना कर दिया था। मगर उन्होंने हार नहीं मानी और क्लबों में गाना शुरू किया था।

10.ऊषा उत्थुप एक बार परफॉर्मेंस के सिलसिले में ओबेरॉय होटल गई थीं। वहीं उनकी मुलाकात फेमस एक्टर शशि कपूर से हुई थी। उन्हें ऊषा की गायिकी बहुत पसंद आई थी। उन्होंने ने ही उन्हें फिल्म में गाने का मौका दिया था।