स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लोग लूटते रहे मैं लुटता रहा. . .प्रमोद हत्याकाण्ड: अब तक नहीं सुलझी गुत्थी

Harmesh Kumar Tailor

Publish: Jul 29, 2019 10:52 AM | Updated: Jul 29, 2019 10:52 AM

Dungarpur

Dungarpur

लोग लूटते रहे मैं लुटता रहा. . .
प्रमोद हत्याकाण्ड: अब तक नहीं सुलझी गुत्थी
परिजनों ने पुलिस को सौंपा प्रमोद का ‘कर्जनामा’
डूंगरपुर. बहुचर्चित प्रमोद हत्याकाण्ड की गुत्थी अब तक सुलझ नहीं पाई है। पुलिस के सामने रोज नए तथ्य आ रहे हैं। इनकी गहनता से पड़ताल चल रही है। इस बीच प्रमोद के परिजनों ने पुलिस को एक पत्र सौंपा है। दावा किया है कि प्रमोद ने मृत्यु से कुछ समय पहले खुद कर्जनामा के नाम से लिखा है।
सूत्रों के अनुसार परिवार जनों ने यह पत्र प्रमोद के सामान में मिलना बताया है। इसमें दार्शनीक अंदाज में लिखा है कि लोग लूटते रहे और मैं लुटता रहा. . .? पत्र में पैसे मांगने वालों के करीब दो दर्जन से अधिक नाम भी हैं। वहीं लगातार तकाजा करके परेशान कर रहे लोगों का जिक्र है।

लोग लूटते रहे मैं लुटता रहा. . .
प्रमोद हत्याकाण्ड: अब तक नहीं सुलझी गुत्थी
परिजनों ने पुलिस को सौंपा प्रमोद का ‘कर्जनामा’
डूंगरपुर. बहुचर्चित प्रमोद हत्याकाण्ड की गुत्थी अब तक सुलझ नहीं पाई है। पुलिस के सामने रोज नए तथ्य आ रहे हैं। इनकी गहनता से पड़ताल चल रही है। इस बीच प्रमोद के परिजनों ने पुलिस को एक पत्र सौंपा है। दावा किया है कि प्रमोद ने मृत्यु से कुछ समय पहले खुद कर्जनामा के नाम से लिखा है।
सूत्रों के अनुसार परिवार जनों ने यह पत्र प्रमोद के सामान में मिलना बताया है। इसमें दार्शनीक अंदाज में लिखा है कि लोग लूटते रहे और मैं लुटता रहा. . .? पत्र में पैसे मांगने वालों के करीब दो दर्जन से अधिक नाम भी हैं। वहीं लगातार तकाजा करके परेशान कर रहे लोगों का जिक्र है।
सभी से हो रही पूछताछ
पुलिस पत्र में उल्लेखित सभी लोगों से पूछताछ कर रही है। घटना के दिन उन लोगों की लोकेशन, मोबाइल कॉल डिटेल, उनकी दिनचर्या आदि को भी खंगाला जा रहा है। हालांकि अब तक पुलिस के हाथ में कोई ठोस तथ्य नहीं लगे हैं।

शहर के युवा व्यापारी प्रमोद शर्मा हत्याकांड की गुत्थी पुलिस अब तक सुलझा नहीं पाई है। जबकि पुलिस ने इस मामले को लेकर करीब 54 हजार से ज्यादा कॉल डिटेल्स एकत्रित कर उसको खंगाला है, लेकिन, मर्डर मिस्ट्री के ठोस सबूत तक अब तक नहीं पहुंच पाई है। कॉल डिटेल्स की अधिक संख्या इसलिए हुई क्योंकि उस क्षेत्र के दायरे में आने वाले कॉल डिटेल्स, पूर्व की डिटेल्स, जिन जिन से बात हुई उनकी डिटेल्स और आपसी कनेक्शन की डिटेल्स खंगाली है। हालांकि, कोतवाली पुलिस को अभी भी इस बात की उम्मीद है कि जल्द ही मामले का खुलासा कर दिया जाएगा। पुलिस ने इस प्रकरण की जांच की गति तेज कर दी है और अन्य थानों से भी क्राइम एक्सपर्ट की ड्यूटी कोतवाली में लगाई गई है। गौरतलब है कि 23 जुलाई को साढ़े 11 से 12 बजे के बीच प्रमोद शर्मा की हत्या उसके प्लांट पर चाकू घोंपकर कर दी गई थी। मामले मे परिजन कलक्टर व एसपी से भी मिले हैं।