स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डूंगरपुर में बनेगी ‘दीकरियों नी वाड़ी’

Vinay Sompura

Publish: Sep 19, 2019 12:00 PM | Updated: Sep 19, 2019 12:00 PM

Dungarpur

डूंगरपुर. अनूठे नवाचारों के लिए देश-विदेश में विख्यात डूंगरपुर नगरपरिषद आमजन का पेड़ों के प्रति आत्मीय जुड़ाव बढ़ाने के लिए एक और अद्वितीय पहल की ओर बढ़ रही है। राजस्थान पत्रिका के हरियाळो राजस्थान और बिटियाञ्चवर्क जैसे सामाजिक सरोकारों के तहत पत्रिका की ओर से दिए गए सुझावों पर अमल करते हुए नगरपरिषद ने प्रदेश का पहला बेटियों का उद्यान बनाने की घोषणा की है। दीकरियों की वाड़ी के नाम से बनने वाले इस उद्यान को लेकर भण्डारिया घाटा स्थित गोशाला के समीप जगह भी चिन्हित कर ली गई है।

डूंगरपुर में बनेगी ‘दीकरियों नी वाड़ी’
पत्रिका के सुझाव पर नगरपरिषद ने किया अमल
गोशाला के पास बनेगा बेटियों को समर्पित फलों का उद्यान
शहर की 500 बेटियां लगाएंगी पेड़
नवरात्रि स्थापना के दिन होगा आगाज
डूंगरपुर. अनूठे नवाचारों के लिए देश-विदेश में विख्यात डूंगरपुर नगरपरिषद आमजन का पेड़ों के प्रति आत्मीय जुड़ाव बढ़ाने के लिए एक और अद्वितीय पहल की ओर बढ़ रही है। राजस्थान पत्रिका के हरियाळो राजस्थान और बिटियाञ्चवर्क जैसे सामाजिक सरोकारों के तहत पत्रिका की ओर से दिए गए सुझावों पर अमल करते हुए नगरपरिषद ने प्रदेश का पहला बेटियों का उद्यान बनाने की घोषणा की है। दीकरियों की वाड़ी के नाम से बनने वाले इस उद्यान को लेकर भण्डारिया घाटा स्थित गोशाला के समीप जगह भी चिन्हित कर ली गई है।
ऐसी होगी वाड़ी
भंडारिया घाटा में गो शाला के समीप नगरपरिषद की २९ हजार वर्ग फीट जमीन है। नगरपरिषद ने उक्त जमीन पर चारदीवारी और फेसिंग करा कर गेट लगवा दिया है। इसे वाड़ी के रूप में विकसित किया जाएगा। इसमें बेटियों के हाथ से ही नींबू, जामुन, अमरूद, चीकू, सीताफल जैसे फलदार पौध लगवाए जाएंगे। सभी बेटियों की सूची भी लगाई जाएगी। नगरपरिषद ने आठ से 10 फीट की ऊंचाई के पौधे भी मंगवा लिए हैं। बगीचे का संरक्षण नगरपरिषद के माध्यम से ही किया जाएगा।
29 सितम्बर को होगा पौधरोपण
‘दीकरियों नी वाड़ी’ में शारदीय नवरात्रि स्थापना पर 29 सितम्बर को भव्य आयोजन होगा। इसमें शहर की 500 बेटियों को आमंत्रित किया जाएगा। यहां बेटियों की पूजा अर्चना की जाएगी। साथ ही बेटियां पेड़ लगाएंगी। नगरपरिषद के इस अनूठे नवाचार के साथ जुड़ते हुए भामाशाह अनिल पंचाल ने सभी बेटियों को चांदी का सिक्का और मां त्रिपुरा सुंदरी की तस्वीर भेंट करने की घोषणा भी की है।
जन्मदिन और रक्षाबंधन पर देंगे न्योता
सभापति के.के.गुप्ता ने बताया कि नगरपरिषद सभी 500 बेटियों की जन्मतिथि का डेटाबेस भी तैयार करेगी। इसमें हर बेटी को इसके जन्मदिन पर दीकरियों नी वाड़ी में आमंत्रित किया जाएगा तथा उससे अपेक्षा की जाएगी कि वह अपने द्वारा लगाए पौधे को एक लोटा पानी डाले। इसके अलावा रक्षाबंधन पर उत्सव बनाते हुए सभी बेटियों को आमंत्रित कर पेड़ों पर रक्षासूत्र बंधवाए जाएंगे। गुप्ता ने बताया कि फलों का बगीचा नगरपरिषद अपने स्तर पर भी विकसित कर सकती है, लेकिन बेटियों को समर्पित किया जा रहा है। इसके पीछे उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ आमजन का पेड़ों के प्रति आत्मीय जुड़ाव सुनिश्चित करना है।