स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Migraine: माइग्रेन दूर करने के लिए इन चीजों से रखें परहेज

Yuvraj Singh Jadon

Publish: Oct 12, 2019 12:31 PM | Updated: Oct 12, 2019 12:31 PM

Disease and Conditions

Migraine: माइग्रेन सिरदर्द का एक प्रकार है और यह कई तरह का होता है। सामान्य माइग्रेन में सिरदर्द, उल्टी, चक्कर, रोशनी व आवाज के प्रति संवेदनशीलता होती है

Migraine In Hindi: माइग्रेन सिरदर्द का एक प्रकार है और यह कई तरह का होता है। सामान्य माइग्रेन में सिरदर्द, उल्टी, चक्कर, रोशनी व आवाज के प्रति संवेदनशीलता होती है। कई बार माइग्रेन में नजर के कुछ हिस्से का प्रभावित होना, शरीर के कुछ हिस्से या एक तरफ के हिस्से में झनझनाहट होना और एकतरफा आंख से दिखाई देना मुश्किल हो जाता है।

क्या इस रोग का इलाज संभव है? ( Migraine Treatment )
माइग्रेन से बचाव और उपचार दोनों संभव है। नियमित दिनचर्या और दवा की पूरी डोज लेकर तकलीफ को ठीक कर सकते हैं।

क्या यह रोग आनुवांशिक है और गंभीर भी हो सकता है?
जी हां, यह आनुवांशिक रोग है। परिवार में कई बार यह बढ़ता जाता है। यह बच्चों में भी हो सकता है। इलाज के अभाव में कई बार यह रोग गंभीर हो जाता है। इससे लकवे की स्थिति बनती है।

किन खाद्य पदार्थों से माइग्रेन के दर्द की आशंका बढ़ जाती है? साथ ही क्या खाना चाहिए? ( Home Remedies Migraine In Hindi )
माइग्रेन को बढ़ाने वाले तत्त्व जैसे रात का बचा हुआ बासी व ठंडा खाना, शराब, चॉकलेट, कैंडी, डिब्बाबंद मांसाहार, प्रिजर्व फूड, चाइनीज नूडल्स, पास्ता, चिकन व सोया सॉस आदि माइग्रेन को बढ़ाते हैं। मैग्नीशियम युक्त चीजें खाएं जैसे केला, सूखी खुबानी, बादाम, काजू, ब्राउन राइस, फलियां व बीज वाली चीजें।

क्या जीवनशैली में बदलाव कर माइग्रेन से बच सकते हैं? ( How To Prevent a Migraine )
रोगी को पर्याप्त नींद लेनी चाहिए। नियमित व्यायाम करे। जंकफूड, फास्ट फूड और डिब्बा बंद भोजन से दूर रहना चाहिए। पनीर, चीज, चॉकलेट, नूडल्स, मैगी आदि में पाएं जाने वाले तत्व माइग्रेन के दर्द को बढ़ा सकते हैं इनसे परहेज करें। अधिक खुशबू वाली चीजों से दूर रहें। तेज आवाज व तेज रोशनी से दूर रहें और तनाव लेने से बचें। बासी भाेजन न खाएं।माइग्रेन से ग्रसित लोगों को घर का बना खाना खाना चाहिए।