स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

स्थानांतरण को लेकर जब मंत्री के सामने रोने लगी शिक्षकाएं

Rajkumar Yadav

Publish: Sep 20, 2019 09:56 AM | Updated: Sep 19, 2019 22:28 PM

Dindori

मंत्री ने कहा जिले में शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाना है

डिंडोरी. गुरुवार के दिन एक दिवसीय दौरे पर निज निवास डिंडोरी आए प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओमकार मरकाम से मुलाकात करने तकरीबन 150 शिक्षकायें उनके बंगले पर जा पहुंची। इस दौरान उनके साथ आजाद अध्यापक संघ के जिला अध्यक्ष देवेंद्र दीक्षित भी मौजूद थे। शिक्षकाओं का कहना था कि जबलपुर संभाग ट्रॉयबल विभाग अध्यापक संवर्ग की सूची शीघ्र ही जारी की जाये, इस हेतु शिक्षकाओं ने मंत्री को पत्र भी दिया। इस बीच कुछ एक शिक्षकायें मंत्री के सामने फफक-फफक कर रोने लगीं। जिन्हें मंत्री ने जिले की बिगड़ी हुई बदहाल शिक्षा व्यवस्था का बखान कर ढांढस बंधाने का प्रयत्न किया। जानकारों की माने तो स्थानांतरण की प्रक्रिया प्रदेश में सभी जगह पूरी हो चुकी है। लेकिन जबलपुर संभाग की सूची आज तलक अटकी है। जबकि सूची अगस्त माह के अंतिम सप्ताह तक जारी हो जानी थी। अब तो सितंबर के माह भी पूर्ण होने को है। ऐसी स्थिति में शिक्षकायें पशोपेश में हैं और मजबूर हो उन्हें मंत्री के पास जाना पड़ा।
शिक्षा को बेहतर बनाना है
जब शिक्षकायें स्थानांतरण को लेकर मंत्री ओमकार मरकाम के पास पहुंची तो मंत्री मरकाम ने शिक्षिकाओं से कहा कि जिले की शिक्षा व्यवस्था को और भी बेहतर बनाना है। ऐसी स्थिति में यदि एक साथ इतनी तादाद में स्थानांतरण किये जाते हैं और आप लोग अन्यत्र जाते हैं तो छात्र-छात्राओं के पढ़ाई प्रभावित हो सकती है। जिससे उनका भविष्य दांव पर लग सकता है एवं शिक्षा व्यवस्था भी बिगड़ सकती है।
नहीं होगा खिलवाड़
इस दौरान मंत्री ओमकार मरकाम ने एक महत्वपूर्ण बात यह कही की वह छात्र जीवन से खिलवाड़ नहीं कर सकतेए और उनके रहते स्कूलों के ताले बंद नही हो सकते। लेकिन शिक्षिकाओं के हित में यह भी कहा कि यदि वास्तव में कोई परेशान है तो वह लिखित में दें। जिसकी विधिवत जांच कराई जायेगी और जानकारी सही पाई जाती है तो संबंधित की परेशानियों के मद्देनजर रख स्थानांतरण किया जा सकेगा।