स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कोई स्कूल में तो किसी ने रिश्ततेदारों के यहां जमाया डेरा

ayazuddin siddiqui

Publish: Aug 18, 2019 17:34 PM | Updated: Aug 18, 2019 17:34 PM

Dindori

मामला कुकर्रा नहर के कहर का

मेहंदवानी. विकास खंड मेंहदवानी के ग्राम कुकर्रा में अतिवृष्टि के चलते कुकर्रा जलाशय की नहर के फूटने से दर्जनों घरों में भरे पानी से घर रहने लायक नहीं रह गया है। नतीजन पीडि़त परिवार कोई स्कूल तो कोई रिश्तेदारों के यहां रहने को मजबूर हैं। पीडि़त परिवार की मुखिया शांति बाई ने बताया कि बुधवार को आई आफत की बारिश के चलते नहर के फूटने से उसके घर में पानी भर गया था। जिससे घर का सारा अनाज बह गया अनाज रखने की कोठी फूट गई घर रहने लायक नहीं रह गया। जिससे हम प्राथमिक शाला भवन में रह रहे हैं। वहीं बुजुर्ग दम्पति रमैया सिंह तथा उनकी पत्नी गुहरी बाई ने बताया कि हमारा मकान बह गया और अनाज की कोठी फूटने से पूरा अनाज बह गया। घर में पानी भरने से पूरा घर गीला है मजबूरी में हम लोग सागौन के पत्ते बिछाकर रात गुजारने को मजबूर हैं। हमारे खेतों की फसल भी बरबाद हो गई है। इसी तरह देवरिया बाई, गुलबी बाई, प्रताप सिंह, मनीराम, मांहे, गोहरा तथा रामकली बाई के घरों तथा घर में रखे सामान सहित फसलों की क्षति हुई है। घटना के बाद नायब तहसीलदार एच. एस. भवेदी पटवारी के साथ मौके पर पहुंचकर पीडि़त परिवारों को रहने के लिए प्राथमिक शाला भवन में व्यवस्था कराया तथा सभी पीडि़त परिवारों के हुए क्षति का मुआयना करा राजस्व विभाग द्वारा मुआवजा दिलाने की कार्यवाही कराई। वहीं जल संसाधन विभाग द्वारा नहर की मरम्मत एक दो दिन में कराने की बात कही गई है।
इनका कहना है
हमारे द्वारा मौके पर पहुंचकर पीडि़तों के रहने की व्यवस्था कराई गई है तथा पटवारी से अतिवृष्टि से हुई क्षति का आंकलन कराकर शासन से सहायता राशि दिलाने की कार्यवाही की गई है।
एचएस भवेदी, नायब तहसीलदार, मेंहदवानी।