स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बैगा महिला को नहीं मिल रही सहायता राशि

Rajkumar Yadav

Publish: Oct 17, 2019 09:43 AM | Updated: Oct 16, 2019 22:26 PM

Dindori

बैंक खाता न खुलने से शासन की योजनाओं के लाभ से वंचित

मेंहदवानी. बैगा जनजाति के लिए शासन द्वारा अनेकों योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। जिसमें बैगा परिवार की महिला मुखिया को शासन द्वारा कुपोषण से मुक्ति के लिए पौष्टिक आहार के लिए 1000 रूपये प्रतिमाह प्रोत्साहन राशि दी जाती है । परन्तु जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते इन योजनाओं का फायदा गरीबों को कितना मिल पाता है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जनपद पंचायत मुख्यालय मेंहदवानी में ही एक अशिक्षित गरीब बैगा महिला को आज तक इस योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। जानकारी के अनुसार मुख्यालय मेंहदवानी के बैगान टोला निवासी बैगा महिला झम्मल बाई पति केहरा बैगा का बैंक का खाता नहीं खुल पाने से आज भी महिला को शासन से प्रतिमाह दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि 1000 रुपए प्रतिमाह नहीं मिल पा रहा है। महिला का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी के उज्जवला योजना के तहत मुझे गैस कनेक्शन भी मिलना था परन्तु बैंक खाता नहीं खुल पाने के कारण शासन की कई योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। मैं विगत एक वर्ष पहले खाता खुलवाने सेन्ट्रल बैंक मेंहदवानी कई बार गई पर एक बार बैंक के एक कर्मचारी ने मेरे खाता खुलवाने वाले फार्म को गलत है कहकर फेंक दिया था तब से बैंक नहीं गई। ऐसी स्थिति में ग्राम पंचायत के सचिव रोजगार सहायक की जवाबदारी होती है कि हितग्राही का खाता क्यों नहीं खुला इन बातों की जानकारी रहनी चाहिए और बैंक प्रबंधक से मिलकर खाता खुलवाना चाहिए था परन्तु ध्यान नहीं दिया गया। जिसके चलते बैगा महिला को शासन की योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है।