स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

.तो चालान से बच सकते हैं वाहन चालक

Naresh Kumar Lawaniyan

Publish: Sep 09, 2019 11:24 AM | Updated: Sep 09, 2019 11:24 AM

Dholpur

धौलपुर. केन्द्र सरकार की ओर से एक सितम्बर से लागू किए गए संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के तहत यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर भारी जुर्माना लगाया गया है। लेकिन अगर आपके पास डिजीलॉकर एप में दस्तावेज सुरक्षित हैं तो चालान कटने से बच जाएंगे। हालांकि राज्य में अभी तक इसकी अधिसूचना जारी नहीं हुई है, लेकिन पुलिस और परिवहन विभाग लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक कर रही है।

.तो चालान से बच सकते हैं वाहन चालक
संशोधित केन्द्रीय एमवी अधिनियम लागू होने पर परिवहन आयुक्त ने जारी किए आदेश
परिवहन अधिकारी वाहन चालकों को करेंगे जागरूक

धौलपुर. केन्द्र सरकार की ओर से एक सितम्बर से लागू किए गए संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के तहत यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर भारी जुर्माना लगाया गया है। लेकिन अगर आपके पास डिजीलॉकर एप में दस्तावेज सुरक्षित हैं तो चालान कटने से बच जाएंगे। हालांकि राज्य में अभी तक इसकी अधिसूचना जारी नहीं हुई है, लेकिन पुलिस और परिवहन विभाग लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक कर रही है।
वहीं दस्तावेजों को सुरक्षित रखने के लिए केन्द्रीय संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की ओर से उपलब्ध कराए गए 'डिजिलॉकर Ó को लेकर भी वाहन चालकों को जानकारी दी जाएगी। इसके लिए परिवहन आयुक्त राजेश यादव ने प्रदेश के सभी आरटीओ तथा जिला परिवहन अधिकारियों को आदेश जारी किए हैं।
इसमें डिजिलॉकर एप को वाहन चालकों द्वारा डाउनलोड करवाकर वाहन के पंजीयन प्रमाण पत्र तथा चालक लाइसेंस की डिजिटल प्रति संधारित करने की प्रक्रिया समझाई जाएगी। साथ ही इसका व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि डिजिलॉकर में दस्तावेज संधारित रखने पर यातायात पुलिस की ओर से मांगे जाने पर दिखाया जा सकता है। जिससे वाहन चालक का चालान नहीं कटेगा।
उल्लेखनीय है कि नियमों का उल्लंघन करने पर भारी जुर्माने के कारण वाहन चालकों में चालान का भय बन गया है। साथ ही कथित भ्रष्टाचार बढऩे की आशंका
बनी हुई है।
डिजिलॉकर में यूं संधारित कर सकते हैं दस्तावेज
1. अपने एंड्रॉयड या आईओएस स्मार्ट फोन में प्ले स्टोर से डिजिलॉकर एप डाउनलोड एवं इंस्टॉल करें।
2. डिजिलॉकर एप में साइनअप करने के लिए अपना मोबाइल नम्बर दर्ज करें। दर्ज किए गए मोबाइल नम्बर पर एक ओटीपी आएगा। जिसे दर्ज करने के बाद नागरिक अपना अपना यूजरनेम एवं पासवर्ड का चयन कर डिजिलॉकर एप पर अपना खाता बना सकेगा।
3. डिजिलॉकर एप पर खाता बनाने के बाद डैशबोर्ड पर नोटिफिकेशंस के तहत आधार नम्बर को लिंक किए जाने का नोटिफिकेशन प्रदर्शित होगा। जिसका उपयोग कर अपना आधार नम्बर डिजिलॉकर से लिंक कराएं।
4. पंजीयन प्रमाण-पत्र डाउनलोड करने के लिए डैशबोर्ड पर नोटिफिकेशन्स के तहत डिजिटल वाहन पंजीयन प्रमाण-पत्र प्राप्त करने का नोटिफिकेशन प्रदर्शित होगा।
5. नोटिफिकेशन को टच करने पर आवेदक का आधार में दर्ज नाम प्रदर्शित होगा एवं वाहन पंजीयन क्रमांक एवं चैसिस नम्बर दर्ज करने का विकल्प दिखेगा। सही जानकारी भरने के बाद गेट डॉक्यूमेंट बटन पर क्लिक करने पर वाहन का डिजिटल प्रमाण-पत्र इश्यू डॉक्यूमेंट विकल्प के तहत प्रदर्शित होने लगेगा।
6. इसी प्रकार चालक लाइसेंस डाउनलोड किया जा सकेगा। इसके तहत डैशबोर्ड पर नोटिफिकेशन के तहत डिजिटल चालक लाइसेंस प्राप्त करने का नोटिफिकेशन आएगा। इसे टच करने पर आवेदक का आधार में दर्ज नाम एवं जन्मतिथि प्रदर्शित होगी। चालक लाइसेंस का नम्बर दर्ज करने का विकल्प प्रदर्शित होगा। सही जानकारी दर्ज करने के बाद गेट डॉक्यूमेंट बटन पर क्लिक करने पर डिजिटल चालक लाइसेंस इश्यू डॉक्यूमेंट विकल्प के तहत प्रदर्शित होने लगेगा।