स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब अस्पताल की लाइन से मिलेगा छुटकारा, कलक्टर ने किया नया प्रयोग

Mahesh Gupta

Publish: Nov 22, 2019 11:57 AM | Updated: Nov 22, 2019 11:57 AM

Dholpur

जिले के सबसे बड़े अस्पताल में आउटडोर पर पर्चा बनाने की मशक्कत से निजात दिलाने के लिए शहर में अब दो और ई-मित्रों पर गुरुवार से यह सुविधा शुरू कर दी गई है। जिला कलक्टर ने यह सुविधा शुरू की। उन्होंने कहा कि मरीज स्वयं या खुद उसके परिजन ई मित्र पर जाकर अपनी पर्ची कटवा कर 7 दिनों के अंदर कभी भी अस्पताल जाकर दिखा सकते है।

धौलपुर. जिले के सबसे बड़े अस्पताल में आउटडोर पर पर्चा बनाने की मशक्कत से निजात दिलाने के लिए शहर में अब दो और ई-मित्रों पर गुरुवार से यह सुविधा शुरू कर दी गई है। जिला कलक्टर ने यह सुविधा शुरू की। उन्होंने कहा कि मरीज स्वयं या खुद उसके परिजन ई मित्र पर जाकर अपनी पर्ची कटवा कर 7 दिनों के अंदर कभी भी अस्पताल जाकर दिखा सकते है। उन्होंने कहा कि वो इस बात को बहूत अच्छे से समझ सकते है कि अस्पताल जाकर लाइन में घण्टों खड़े होकर कितनी परेशानी होती होगी। इसी परेशानी को खत्म करने के लिए यह शुरुआत की गई है। इसलिए कभी भी अपने नजदीकी ई-मित्र से पर्ची कटवा कर सीधे डॉ. के पास जाकर दिखा सकते हैं। उन्होंने कहा कि अस्पताल की जगह इन ई-मित्रों पर जाकर अपनी पर्ची बनवा लें और अस्पताल में अब लाइन लगाने की जरूरत न पड़ेगी। उन्होंने कहा कि 15 दिनों के बाद इस प्रयोग की समीक्षा की जाएगी और जो भी परेशानियां होंगी। उन्हें दूर किया जाएगा।
राहत देगी यह मुहिम
इस मौके पर जिला पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा ने कहा कि जिला कलक्टर की यह मुहिम निश्चित रूप से आमजन को राहत देगी और हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस प्रयास के बारे में बता कर उनकी मदद करनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि जिला कलक्टर ने सही मायने मे सर्विस के अर्थ को साकार किया है। इस दौरान टाउन चौकी पुराना शहर और ओडेला रोड पर जादौन ई मित्र पर शरुआत की गई। इस मौके पर अस्पताल के पीएमओ डॉ. समरवीर सिंह, एसीपी बलभद्र सिंह आदि भी उपस्थित थे।
खुद की सुनाई आपबीती
उन्होंने कहा कि जब मैं छोटा था, तब रेलवे की लाइन ने मुझे बहुत परेशान किया।
धौलपुर से विशेष जुड़ाव है। मेरी इच्छा है कि कुछ भी कर यहां के लोगों की परेशानी को कम करके इनके चेहरे पर मुस्कान ला सकूं। उन्होंने कहा बीमार आदमी तुरंत आराम चाहता है और जब उसे लाइन में खड़े होना पड़े तो यह उसके दर्द को ओर बढ़ा देता है।
उपस्वास्थ्य केन्द्रों से दवा वितरण का प्लान
उन्होंने कहा कि आने वाले समय मे दवाइयों को लेने के लिए जो लाइन लगती है। उसके लिए भी शहर में उपलब्ध उपस्वास्थ्य केंद्रों पर दवाई उपलब्ध करवाने का विचार चल रहा है।
इससे घर के पास से पर्ची कटवाए और घर के पास से ही दवाई मिल जाए तो अस्पताल में लगने वाले 5 से 6 घण्टों को बहुत हद तक कम किया जा सकेगा।

[MORE_ADVERTISE1]