स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

छात्रसंघ चुनाव को लेकर बढ़ी हलचल, विद्यार्थी देख रहे वादे, अंतिम फैसला बाद में

Naresh Kumar Lawaniyan

Publish: Aug 14, 2019 11:57 AM | Updated: Aug 14, 2019 11:57 AM

Dholpur

धौलपुर. कॉलेज छात्रसंघ चुनाव प्रक्रिया शुरू होने में अब केवल पांच दिन शेष बचे हैं। आगामी 19 अगस्त को मतदाता सूची का प्रकाशन होगा और इसी के साथ कॉलेज की सरकार का चुनाव प्रचार गति पकड़ लेगा। अभी कॉलेज में कई विद्यार्थी प्रवेश की नई सूची आने का इतंजार कर रहे हैं।

छात्रसंघ चुनाव को लेकर बढ़ी हलचल, विद्यार्थी देख रहे वादे, अंतिम फैसला बाद में

कॉलेज परिसर की मुख्य सड़क पड़ी है खुदी, नहीं किसी का ध्यान
छात्र नेताओं का कॉलेज में शुरू होने लगा चुनाव प्रचार
छात्रसंघ चुनाव
धौलपुर. कॉलेज छात्रसंघ चुनाव प्रक्रिया शुरू होने में अब केवल पांच दिन शेष बचे हैं। आगामी 19 अगस्त को मतदाता सूची का प्रकाशन होगा और इसी के साथ कॉलेज की सरकार का चुनाव प्रचार गति पकड़ लेगा। अभी कॉलेज में कई विद्यार्थी प्रवेश की नई सूची आने का इतंजार कर रहे हैं।
महाराजा सूरजमल बृज विश्वविद्यालय की ओर से अलग-अलग विषयों के परिणाम में हो रही देरी ने विद्यार्थियों के साथ कॉलेज प्रशासन को मुश्किल में डाल दिया है। इससे विद्यार्थियों की कुल संख्या स्पष्ट नहीं हो पा रही है, जिससे मतदान में भाग लेने वाले विद्यार्थियों के लिए अंतिम समय में बाधा उत्पन्न हो सकती है। मतदान के लिए विद्यार्थी के पास पहचान पत्र होना आवश्यक है। उधर, चुनाव की बात करें तो हौले-हौले चुनाव का माहौल बन रहा है। सुबह के समय राजकीय पीजी कॉलेज में संभावित दावेदार पहुंच रहे हैं और छात्र-छात्राओं से मुलाकात कर रहे हैं। लेकिन पूरी स्थिति छात्र संगठन एनएसयूआई और एबीवीपी के उम्मीदवारों की घोषणा होने पर हो सकेगी। गत चुनाव में एबीवीपी कब्जा जमाने में कामयाब रहा था।
खस्ताहाल सड़क बन सकता है मुद्दा
कॉलेज परिसर में सड़क निर्माण का कार्य बेहद सुस्त गति से चल रहा है। ज्यादातर सड़क खुदी पड़ी है। इससे छात्र-छात्राओं को आने-जाने में परेशानी उठानी पड़ रही है। उधर, कॉलेज प्रशासन का कहना है कि सड़क निर्माण का कार्य नगर परिषद करा रही है, धीमी गति के चलते कार्य लटका पड़ा है। फिलहाल बरसात के मौसम के चलते यहां पर पानी जमा हो रहा है, इससे भी परेशानी
बनी हुई है।
19 को मतदाता सूची का प्रकाशन
छात्रसंघ चुनाव को लेकर कॉलेज प्रशासन की ओर से 19 अगस्त को मतदाता सूची का प्रकाशन किया जाएगा। इसके बाद दूसरे दिन 20 अगस्त को मतदाता सूचियों पर दोपहर 2 से शाम 5 बजे तक आपत्तियां ली जाएगी। इसी दिन मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन कर दिया जाएगा। इसके बाद 22 अगस्त को उम्मीदवार के लिए नामांकन पत्र दाखिल की प्रक्रिया होगी और उसी दिन जांच व आपत्तियां ली जाएगी। दूसरे दिन वैध नामांकन सूची का प्रकाशन व उम्मीदवारों के नाम वापस लेने की प्रक्रिया व उम्मीदवारों की अंतिम सूची का प्रकाशन होगा। इसके बाद 27 अगस्त को सुबह 8 से दोपहर 1 बजे तक मतदान होगा। दूसरे दिन 28 अगस्त को मतगणना और चुनाव परिणाम की घोषणा होगी।
किसी भी कॉलेज या विश्वविद्यालय की कैंटीन छात्र-छात्राओं के बैठने का प्रमुख ठिकाना होता है। लेकिन पीजी कॉलेज की कैंटीन इसके विपरीत दिखी। कैंटीन सूनी पड़ी थी और एक्का-दुक्का छात्र ही पहुंच रहे थे। यहां पर चाय, बिस्कुट और पेटीज के अलावा ज्यादा कुछ खानपान के लिए नहीं है। कैंटीन पर बैठे दिनेश ने बताया कि कैंटीन ठीक चल जाती है। उन्होंने बताया कि कक्षा समाप्त होने पर छात्र आते हैं। मनोरंजन के लिए टीवी बगैराह के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस संबंध में कॉलेज प्रशासन को बता रखा है।
छात्रसंघ चुनाव को लेकर पत्रिका ने कॉलेज में कुछ छात्र-छात्राओं से बातचीत की। जिसमें विद्यार्थियों का कहना था कि पहले उम्मीदवारों के कॉलेज विकास को लेकर उनकी सोच क्या है उसे देखा जाएगा...उसके बाद मत को लेकर निर्णय होगा। एमए द्वितीय वर्ष के छात्र शहजाद ने कहा कि कॉलेज में काफी कार्य कराने की आवश्यकता है। वर्तमान में सुविधाएं न के बराबर है, छात्र उम्मीदवारों को इस पर ध्यान देना चाहिए। इसी तरह स्नातक द्वितीय वर्ष की छात्रा कलप ने बताया कि मतदान को लेकर अभी कुछ सोचा नहीं है। देखते हैं, विकास और छात्रों की समस्याओं को लेकर किसका क्या एजेंडा है। इसी तरह छात्रा राखी ने कहा कि कॉलेज में छात्र-छात्राओं की कई समस्याएं रहती हैं, उन पर ध्यान देने की जरुरत है।