स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

वन अधिकारियों के प्रयास विफल, नहीं मिला बघेरा

mahesh gupta

Publish: Sep 21, 2019 10:55 AM | Updated: Sep 21, 2019 10:55 AM

Dholpur

उपखंड क्षेत्र के बरौली इलाके में बघेरा द्वारा हमला कर दो महिलाओं को घायल करने के बाद हरकत में आए वनविभाग प्रशासन ने शुक्रवार को इलाके में उसकी तलाश की लेकिन बघेरा का पता नहीं लग सका है।

दो महिलाओं को कर चुका है घायल
टेंकुलाइज करने का प्रयास
सरमथुरा. उपखंड क्षेत्र के बरौली इलाके में बघेरा द्वारा हमला कर दो महिलाओं को घायल करने के बाद हरकत में आए वनविभाग प्रशासन ने शुक्रवार को इलाके में उसकी तलाश की लेकिन बघेरा का पता नहीं लग सका है। घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण करने के बाद वन विभाग ने पैंथर या जरख के पद चिन्ह होने का दावा किया है। करौली के डीएफओ हेमंत सिंह शेखावत एवं धौलपुर के डीएफओ करण सिंह सहित वन विभाग के अनेक अधिकारी व कर्मचारियों ने शुक्रवार को सुबह से ही इलाके में बघेरा की तलाश की लेकिन हिंसक बघेरा का कोई पता नहीं लग पाया है।
हालांकि हिंसक हो चुके बघेरा को विभाग ने ट्रेंकुलाइज करने की पूरी तैयारी कर रखी है लेकिन वह अधिकारियों से नजर बचाकर कहीं छिप गया है। घटनास्थल से उठाए पद चिन्हों के आधार पर उक्त जंगली जानवर के जरख या पैंथर दोनों में से कोई एक होने का दावा किया गया है सरमथुरा रेंजर विक्रम सिंह ने बताया कि उनकी टीम उस पर नजर रखे हुए है और लोगों को भी अकेले में खेत-खलिहान अथवा जंगल में जाने से बचने की सलाह दी गई है।