स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाढ़ में डूबते ग्रामीण को सेना ने किया रेस्क्यू

Naresh Kumar Lawaniyan

Publish: Sep 19, 2019 15:43 PM | Updated: Sep 19, 2019 15:43 PM

Dholpur

धौलपुर. जिले में आई बाढ़ में राहत एवं बचाव कार्य के लिए सेना भी उतर आई है। राजाखेड़ा क्षेत्र की ग्राम पंचायत बसई घीयाराम के हेतसिंहपुरा गांव में अपने भूसे के कूपे को संभालने के दौरान डूबे एक वृद्ध चरणसिंह को सेना के जवानों ने रेस्क्यू किया।

बाढ़ में डूबते ग्रामीण को सेना ने किया रेस्क्यू
चम्बल में उफान, जिले में बाढ़, बचाव व राहत कार्य जारी
हेतसिंह का पुरा गांव का मामला
धौलपुर. जिले में आई बाढ़ में राहत एवं बचाव कार्य के लिए सेना भी उतर आई है। राजाखेड़ा क्षेत्र की ग्राम पंचायत बसई घीयाराम के हेतसिंहपुरा गांव में अपने भूसे के कूपे को संभालने के दौरान डूबे एक वृद्ध चरणसिंह को सेना के जवानों ने रेस्क्यू किया।
साथ ही चिकित्सा टीम की ओर से प्राथमिक उपचार दिया गया। जिला कलक्टर ने बताया कि बसई घीयाराम क्षेत्र में सेना के कैप्टन शेखर पानीगृही के नेतृत्व में 3 टीमों राहत एवं बचाव कार्य किया। टीम ने प्रभावित क्षेत्र में आमजनों की देखरेख के लिए 3 डॉक्टरों को भेजकर 16 लोगों को बचाया। बाढग़्रस्त गांवों में भोजन और दवा उपलब्ध कराई। वहीं अण्डवा-पुरैनी के सभी बाढग़्रस्त क्षेत्रों में 5 डॉक्टरों को शिफ्ट करते हुए 34 लोगों को बचाया। मौरोली में 2 डॉक्टर की टीम ने भोजन और दवा उपलब्ध कराई। कलक्टर ने बताया कि जहां पर प्रशासन के वाहन नहीं जा सकते थे। उन गांवों में भोजन, पानी, दवा वितरित की गई। मोहनपुरा, बरापुरा, टुण्डापुरा के गांवों में प्राथमिक चिकित्सा, भोजन के पैकेट्स वितरित किए गए। 20 इन्जीनियर रेजिमेन्ट की टीम ने बसईघियाराम एवं मौरोली में बचाव के लिए 3 बोट्स, 3 टोही नाव, 3 बोर्ड और लाइफ जैकेट्स प्रदान किए। आर्मी की ओर से ओबीएम संचालित बोट्स का उपयोग कर बचाव एवं राहत कार्य किया जाता है।