स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाघ के बाद अब इस जानवर का खौफ

mahesh gupta

Publish: Sep 20, 2019 10:50 AM | Updated: Sep 20, 2019 10:50 AM

Dholpur

उपखंड क्षेत्र के गांव बरौली में खेतों पर काम करने गई कुछ ग्रामीण महिलाओं पर जंगली जानवर ने हमला कर दिया जिससे दो महिलाएं घायल हो गईं। घायलों को हालत गंभीर होने पर धौलपुर रैफर किया गया है। इससे क्षेत्र के लोगों में दहशत है।

दो महिलाएं घायल
सरमथुरा. उपखंड क्षेत्र के गांव बरौली में खेतों पर काम करने गई कुछ ग्रामीण महिलाओं पर जंगली जानवर ने हमला कर दिया जिससे दो महिलाएं घायल हो गईं। घायलों को हालत गंभीर होने पर धौलपुर रैफर किया गया है। इससे क्षेत्र के लोगों में दहशत है। ग्रामीणों के अनुसार सुरेश बाई पत्नी श्याम सिंह मीणा निवासी कासपुरा व रामकली पत्नी रामअवतार मीणा निवासी बरौली अपने खेतों पर गई हुईं थी तभी करीब 4 बजे के करीब एक जंगली जानवर ने 15 मिनट के अंतराल पर दोनों महिलाओं पर हमला कर दिया। इससे दोनों महिलाएं गंभीर रूप से घायल हो गई। महिलाओं के चिल्लाने पर ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया।
जंगली जानवर की सूचना वन विभाग के क्षेत्रीय वन अधिकारी विक्रम सिंह मीणा को दी। इस पर उन्होंने अपने दल-बल के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया एवं जानवर के पैरों के चिन्ह लेने की कोशिश की।
क्षेत्रीय वन अधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर पग मार्कों के आधार पर जानवर का बघेरा होना प्रतीत हो रहा है। हालांकि रात्रि होने के कारण सही जानकारी नहीं मिल सकी है लेकिन अनुमान के मुताबिक उक्त जानवर बघेरा ही है।
धौलपुर. जिला वन अधिकारी करन सिंह ने सरमथुरा क्षेत्र के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को सावचेत रहने की बात कही है। सिंह ने बताया कि सरमथुरा रेंज में एक वन्य जीव जो कि पैंथर या जरख होना प्रतीत हो रहा है। वन्य जीव के परमॉर्क स्पष्ट अंकित नहीं होने के इसकी पहचान चिन्हित नहीं हो पा रही है। हिंसक हो चुके वन्य जीव को ट्रैस कर ट्रैंकुलाइज करने हेतु वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी लगातार क्षेत्र में ट्रैकिंग कर इसके मूवमेन्ट पर नजर रखे हुए हैं। इसके अलावा उप वन संरक्षक, वन्य जीव, बफर, करौली तथा उप वन संरक्षक, वन्य जीव, आर.टी;आर. सवाई माधोपुर को सूचित कर पिंजरा उपलब्ध कराने तथा ट्रैंकुलाइजिंग विशेषज्ञ टीम को तत्काल सरमथुरा क्षेत्र में बुलाया जा रहा है, ताकि वन्य जीव द्वारा सम्भावित हमलों की स्थिति उत्पन्न होने से पूर्व ही इसे ट्रेंकुलाइज कर कब्जे में लिया जा सके। सरमथुरा क्षेत्र के लोगों विशेषकर चरवाहे तथा खेतों में काम करने वाले कृषकों, को सचेत किया गया है कि वे अपने जनधन व पशुधन की सुरक्षा हेतु पूर्णत सावधानी बरतें । क्षेत्र में वन्य प्राणी के मूवमेन्ट की सूचना वन विभाग (रेंजर सरमथुरा के मोबाइल नं. 9829664617 पर), पुलिस एवं प्रशासन के नजदीकी कार्यालय में दें।