स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को, जानें भारत पर क्या पड़ेगा प्रभाव

Tanvi Sharma

Publish: Dec 11, 2019 13:12 PM | Updated: Dec 11, 2019 13:12 PM

Dharma Karma

इस राशि और नक्षत्र पर लग रहा है सूर्य ग्रहण

इस महीने 26 तारीख को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण लगेगा। यह साल का आखिरी सूर्य ग्रहण होगा लेकिन यह पहला ऐसा सूर्य ग्रहण होगा जो कि भारत में दिखाई देगा। इस सूर्य ग्रहम का प्रभाव पूरे भारत में जजर आयेगा। यह एक खंडग्रास सूर्यग्रहण होगा, जोकी कंकणाकृति यानी कंगन के आकार का नजर आयेगा। 26 दिसंबर 2019 को सूर्य ग्रहण पड़ेगा। आइए जानते हैं सूर्य ग्रहण सूतक काल, समय और उपाय...

 

[MORE_ADVERTISE1]साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को, जानें भारत पर क्या पड़ेगा प्रभाव[MORE_ADVERTISE2]

ग्रहणकाल का समय

यह खंडग्रास सूर्यग्रहण ग्रहण का सूतक का समय एक दिन पहले यानी 25 दिसंबर की शाम 5 बजकर 33 मनिट से शुरु हो जायेगा। वहीं सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर की रात 10.25 मिनट से शुरू होगा और देर रात 3.21 बजे तक रहेगा। और 26 दिसंबर के दिन 10 बजकर 57 मिनट तक सूतककाल रहेगा।

 

इस राशि और नक्षत्र पर लग रहा है सूर्य ग्रहण

साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को गुरु की राशि धनु और मूल नक्षत्र में लग रहा है। मूल नक्षत्र का स्वामी ग्रह केतु ग्रह होता है। सूर्य ग्रह, धनु राशि और मूल नक्षत्र के बीच की सामंजस्यता को देखें तो इन तीनों के मध्य अच्छी सामंजस्यता दिखाई दे रही है।

[MORE_ADVERTISE3]साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को, जानें भारत पर क्या पड़ेगा प्रभाव

 

क्या और क्यों होता है सूतक काल

ग्रहण में लगने वाला सूतक धार्मिक दृष्टि से अच्छा नहीं माना जाता है। सूतककाल में शुभ कार्यों को करने की मनाही होती है और यह ग्रहण लगने के चार पहर (एक पहर तीन घंटे के बराबर होता है) पहले से ही लग जाता है और ग्रहण के समाप्ति के साथ ही खत्म होता है। सूतक काल वहीं प्रभावी होता है, जहां सूर्य ग्रहण दिखाई देगा।