स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मंगलवार को ऐसे करें हनुमान जी की पूजा, बरगद के एक पत्ते से आर्थिक संकटों से मिलेगी मुक्ति

Devendra Kashyap

Publish: Oct 21, 2019 15:16 PM | Updated: Oct 21, 2019 15:16 PM

Dharma Karma

मंगलवार को हनुमान जी का खास पूजन करने से बहुत लाभ होते हैं और बजरंगबली खास लाभ देते हैं।

कलयुग में सबसे सक्रिय देवताओं में से एक हनुमान जी हैं। कहते हैं कि बजरंगबली की अराधना भक्तों के हर संकट को हर लेती है और उनके दुख-दर्द दूर हो जाते हैं। मंगलवार और शनिवार को हनुमानजी का दिन कहा जाता है।

ये भी पढ़ें- विख्यात महालक्ष्मी मंदिर, जहां धन और समृद्धि की मन्नतें लिए आते हैं श्रद्धालु

मान्यता है कि मंगलवार को हनुमान जी का खास पूजन करने से बहुत लाभ होते हैं और बजरंगबली खास लाभ देते हैं। आइये जानते हैं कि मंगलवार को हनुमान जी कि किस विधि से पूजा करने से वे जल्द प्रसन्न होते हैं...


मंगलवार को हनुमान जी का सिंदूर से पूजन करने से समस्त दुखों से मुक्ति मिलती है।

मंगलवार को सुबह में बरगद के पेड़ के एक पत्ते को तोड़कर गंगा जल से धो कर हनुमान जी को अर्पित करने से धन की आवक बढ़ती है और आर्थिक संकटों से मुक्ति मिलती है।

मंगलवार को पान का बीड़ा नियम से हनुमान जी पर चढ़ाने से रोजगार के रास्ते खुलते हैं। माना जाता है ऐसा करने से नौकरीपेशा को प्रमोशन के अवसर भी मिलते हैं।

मंगलवार को शाम के समय हनुमान जी को केवड़े का इत्र और गुलाब की माला चढ़ाएं। कोशिश करें कि मंगलवार को स्वयं लाल रंग के वस्त्र पहनें।

मंगलवार को व्रत करके शाम में बूंदी के लड्डू या बूंदी का प्रसाद बांटें। इससे संतान संबंधी समस्याएं दूर होती हैं।

मंगलवार को हनुमान जी के पैरों में फिटकरी रखने से बुरे सपनों से पीछा छूट जाता है।

मंगलवार को हनुमान मंदिर जाकर रामरक्षास्त्रोत का पाठ करने से सारे बिगड़े काम बन जाते हैं और कर्ज से भी मुक्ति मिल जाती है।

मंगलवार को हनुमान जी की प्रतिमा के समक्ष बैठकर राम नाम का जप 108 बार करें। ऐसा करने से भगवान हनुमान सभी मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं।

मंगलवार को हनुमान जी के सामने सरसों के तेल का दिया जलाकर हनुमान चालीसा का पाठ करें। ऐसा करने से दांपत्य जीवन में सरसता आता है।

ऊँ हं हनुमंतये नम: मंत्र का जाप करने से हनुमान जी प्रसन्न होते हैं और आरोग्य का वरदान मिलता है।