स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ऐसे काम करने वाले को मिलते हैं ये चौबीस श्राप, पितृपक्ष में सावधान रहें

Shyam Kishor

Publish: Sep 19, 2019 11:27 AM | Updated: Sep 19, 2019 11:27 AM

Dharma Karma

Pitru Paksha 2019 : पितृ पक्ष में इन बातों का ध्यान जरूर रखें, नहीं तो ये 24 तरह के श्राप आपको भी लग सकते हैं।

कहा जाता है कि पितृपक्ष में कुछ गलतियां होती है जिन्हें भूलकर भी नहीं करना चाहिए, अन्यथा गलती करने पर एक दो नहीं बल्कि गलती करने वाले को एक साथ 24 श्रापों का भागीदार बनना पड़ता है। पितृ पक्ष के सोलह दिन पवित्र रहना चाहिए, किसी को भी कष्ट नहीं देना चाहिए। श्राद्ध कर्म जरूर करना चाहिए। इन सबके अलावा पितृ पक्ष में इन बातों का ध्यान जरूर रखें, नहीं तो ये 24 तरह के श्राप आपको भी लग सकते हैं।

 

यह भी पढ़ें : शारदीय नवरात्र : ऐसे बनी माँ आद्यशक्ति दुर्गा से महाशक्ति दुर्गा, अद्भूत कथा

 

 

ये हैं वे चौबीस लोग जिन्हें अनीति और झूठ का सहारा लेने के कारण- सर्वनाश होने के श्राप मिला था।

1- पितृ पक्ष में अपनों से कोई भी सत्य बात ना छुपाएं- जब कुंती ने कर्ण के जन्म का रहस्य बताते हुआ कहा की कर्ण तुम्हारा बड़ा भाई था। दुःखी होकर युधिष्ठिर ने कुंती के साथ संपूर्ण स्त्री जाति को श्राप दिया कि– आज से कोई भी स्त्री गुप्त बात छिपा कर नहीं रख सकेगी।

2- राजा पांडु शिकार खेलने वन में गए, उन्होंने वहां हिरण के जोड़े को मैथुन करते देखा और उन पर बाण चला दिया। दुखी होकर ऋषि किंदम ने राजा पांडु को श्राप दिया कि जब भी तुम किसी भी स्त्री से मिलन करोंगे। उसी समय तुम्हारी मृत्यु हो जाएगी।

3- माण्डव्य नाम के एक ऋषि को निर्दोष होने पर भी दंड मिलने पर ऋषि ने यमलोक में जाकर यमराज को श्राप दिया था।

4- अपने स्वरूप को देखकर हंसी उड़ाने पर दुखी होकर नंदीजी ने रावण को श्राप दिया था।

5- कभी भी झूठ मत बोलों- ऋषि कश्यप की पत्नी कद्रू ने झूठ बोलने वाले अपने पुत्रों को श्राप दिया था।

6- स्वर्ग की उर्वशी अप्सरा ने अर्जुन को श्राप दिया था।

7- तुलसी ने झूठ का सहारा लेने पर भगवान विष्णु को श्राप दिया था।

8- श्रृंगी ऋषि ने राजा परीक्षित को श्राप दिया था।
9- राजा अनरण्य ने रावण को श्राप दिया था।
10- परशुराम जी ने कर्ण को श्राप दिया था।
11- एक तपस्विनी ने रावण को श्राप दिया था।
12- महारानी गांधारी ने श्रीकृष्ण को श्राप दिया था।

 

ये भी पढ़ें : भगवान को दी जाने वाली मंत्र पुष्पांजलि के पीछे छिपा अद्भूत रहस्य

13- महर्षि वशिष्ठ ने वसुओं को श्राप दिया था।
14- शूर्पणखा ने रावण को श्राप दिया था।
15- ऋषियों ने साम्ब को श्राप दिया था।
16- राजा दक्ष ने चंद्रमा को श्राप दिया था।
17- माया ने रावण को श्राप दिया था।
18- दैत्य गुरु शुक्राचार्य ने राजा ययाति को श्राप दिया था।
19- श्रवण कुमार के माता-पिता ब्राह्मण दंपत्ति ने राजा दशरथ को श्राप दिया था।
20- नंदी ने ब्राह्मण कुल को श्राप दिया था।
21- नलकुबेर ने रावण को श्राप दिया था।
22- भगवान श्रीकृष्ण ने अश्वत्थामा को गलती करने पर श्राप दिया था।
23- तुलसी देवी ने श्रीगणेश को श्राप दिया था।
24- देवर्षि नारद ने भगवान विष्णु को श्राप दिया था।

************

ऐसे काम करने वाले को मिलते हैं ये चौबीस श्राप, पितृपक्ष में सावधान रहे