स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्राकृतिक नजारों को देखने पहुंचे पर्यटक मांडू

sarvagya purohit

Publish: Aug 19, 2019 11:07 AM | Updated: Aug 19, 2019 11:07 AM

Dhar


प्राकृतिक नजारों को देखने पहुंचे पर्यटक मांडू


- मांडू में बारिश के थमने से बड़ी पर्यटकों की संख्या
पत्रिका ग्राउंड रिपोर्ट
धीरज चौधरी
मांडू.
रिमझिम बारिश की होती फुव्वारें, कल-कल बहते झरने, रानी रुपमति और बाज बहादुर की कहानी के साथ प्राकृतिक दृश्य का नजारा देखने के लिए मांडू में सैलानियों की भीड़ देखने को मिली। सुबह से यहां पर पर्यटक मांडू के प्राकृतिक दृश्यों के साथ महल को निहारने पहुंचे।
रविवार को पहले काकड़ खो में पर्यटक ने मांडू यात्रा शुरु की। यहां पर काफी संख्या में लोगों ने प्राकृतिक दृश्य के कल कल बहते झरने का आनंद लिया। यहां पर कई कपल इस प्राकृतिक दृश्य को अपने कैमरे में उतारते हुए नजर आए। काकड़ खो में लोगों ने भुट्टे और निमाड़ी ककड़ी का भी लुत्फ उठाया। इसके साथ ही सिंगल रोड होने के चलते मांडू तक पहुंचने में वाहनों की लंबी कतार भी लग गई। यहां पर बच्चों ने ऊंट व घोड़े की सवारी का भी मजा लिया।
दोपहर में बढ़ी भीड़
दोपहर के बाद मांडू में काफी संख्या में पर्यटकों की संख्या देखने को मिली। यहां पर पर्यटकों ने रानी रुपमति का महल, बाज बहादुर के कहानी के किस्से के साथ पूरा मांडू का भ्रमण किया। यहां पर इंदौर से कई आला-अधिकारी अपनी फैमेली के साथ मांडू भी पहुंचे। यहां पर लोगों ने मांडू की प्रसिध्द इमली का स्वाद भी चखा। इसके बाद कुछ पर्यटकों ने चतुर्भुज राम मंदिर और नीलकठेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन भी किए।
झलकियां
- बारिश के चलते नालछा से मांडू तक की सड़क में काफी गड्ढे हो चले थे, जिसके चलते वाहन चालकों को वाहनों को निकालने में काफी समस्या आई।
-काकड़ खो में काफी भीड़ थी, लेकिन यहां पर लगी टाईल्स भी कही टूटी हुई पड़ी थी तो कही पर टाइल्स निकली हुई थी। इसके कारण पर्यटक भी सावधानी से चल रहे थे।
- काकड़ खो में कुछ युवाओं ने पानी में उतरकर भी सेल्फी ली तो कुछ लाईव वीडियो सोशल मीडिया पर डाल रहे थे।
-सुबह मांडू में कोहरा छाने से प्राकृतिक वादियों में घूमने का अलग ही आनंद हो चला था। इस दौरान हल्की बारिश भी यहां पर देखने को मिली।
- दोपहर के बाद एकाएक भीड़ बढऩे से वाहनों के चलते बार-बार जाम की स्थिति निर्मित हुई जिसके चलते काफी देर तक वाहन चालक परेशान होते हुए नजर आए।
- मांडू की होटले एक दिन पूर्व से ही भर गई थी, जिसके चलते लोगों को होटल में कमरे मिलने में परेशानी आ रही थी।
- मांडू को निहारने के लिए आर्मी और हाईकोर्ट के जज भी यहां पर पहुंचे थे।