स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दस कंपनियों के पास रहेंगे जिला अस्पताल के दस वार्ड

atul porwal

Publish: Jul 19, 2019 11:41 AM | Updated: Jul 19, 2019 11:41 AM

Dhar

सीएसआर मद से होगा उद्धार, सिविल सर्जन ने कलेक्टर को सौंपी मशीनों की जानकारी

धार.
सरकारी खर्च से पूर्ति होती नजर नहीं आई तो कलेक्टर ने प्राइवेट कंपनियों की सीएसआर मद से अस्पताल संवारने का निर्णय लिया। जिला अस्पताल के दस वार्ड अब दस निजी कंपनियों की जिम्मेदारी रहेगी, जिनमें आने वाला खर्च कंपनियों से सीएसआर मद से करवाया जाएगा। हालांकि कोई कंपनी एक से अधिक वार्ड लेना चाहे तो कोई प्रतिबंध नहीं, लेकिन दस बड़ी कंपनियों से अस्पताल संवारने के लिए सीएसआर मद खर्च करने का प्रबंध किया जाएगा। इसके अलावा कलेक्टर ने सिविल सर्जन से मशीनों की जानकारी मांगी थी, जो गुरुवार को सौंप दी गई है। इसमें सी-आर्म मशीन के अलावा एनालाइजर व डायलिसिस मशीनों की भी डिमांड की गई है।
निजी कंपनियां गोद लिए वार्ड में बेड, सिविल वर्क, इलेक्ट्रिफिकेशन आदि पर खर्च करेंगी। जबकि स्वच्छता का जिम्मा अस्पताल प्रबंधन के पास ही रहेगा। तीन सौ बेड के जिला अस्पताल में हमेशा 320 से ज्यादा मरीज भर्ती रहते हैं। कई मर्तबा 350 से ज्यादा मरीज हो जाते हैं, जिससे हर वार्ड में पलंग छोड़ फर्श पर गादी बिछाकर उन्हें उपचार दिया जाता है। इससे अस्पताल प्रबंधन के साथ जिला प्रशासन के लिए भी नोकझोंक शुरू हो जाती है। इसी से बचने के लिए कलेक्टर श्रीकांत बनोठ ने दस वार्ड सीएसआर मद से निखारने की योजना बनाई है। इससे मरीजों को सुविधा मिलेगी। साथ ही प्रत्येक वार्ड में स्वच्छता बनी रही तो उपचार का असर भी तेज हो सकेगा। कलेक्टर को सौंपे पत्र में सिविल सर्जन बौरासी ने कई मशीनों के साथ गार्ड सौंदर्यीकरण का प्रस्ताव भी रखा। प्रत्येक कार्य के सामने अनुमानित खर्च भी लिखा गया, जिससे रकम के बंदोबस्त में दिक्कत ना हो।

ये है अस्पताल की मांग
मशीन का नाम अनुमानित खर्च
सी-आर्म मशीन 10 लाख रुपए
एनालाइजर मशीन 7 लाख रुपए
डायलिसिस मशीन(2) 22 लाख रुपए
इको कार्डियोग्राफी मशीन 15 लाख रुपए
टीएमटी मशीन 2 लाख रुपए
एबीजी मशीन 5 लाख रुपए
दस वार्ड में सिविल व इलेक्ट्रिफिकेशन 10 लाख रुपए
गार्डन सौंदर्यी करण 15 लाख रुपए
पार्किंग व्यवस्था के लिए बेरिकेटिंग व शेड 15 लाख रुपए
कॉल सेंटर 2 लाख रुपए