स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आइएएस के 6 सदस्यीय दल ने ग्राम तिलगारा में गुजारे 5 दिन

Shyam Kumar Awasthi

Publish: Oct 21, 2019 22:50 PM | Updated: Oct 21, 2019 22:50 PM

Dhar

प्रोबेश्नरी पीरियड के दौरान समझी ग्रामीण अंचल की अनेक व्यवस्थाएं

राजेंद्र धोका

बदनावर. आइएएस के प्रोबेश्नरी पीरियड के दौरान 6 सदस्यों के दल ने ग्राम तिलगारा में पांच दिन गुजारे। यहां की आबो हवा, स्वास्थ्य, शिक्षा, आजीविका, मनरेगा कार्य, कृषि, स्वच्छता का फोकस कर भ्रमण के दौरान धरातल की वास्तविकता जानकर अपना ज्ञान बढ़़ाया। दल ने सरकारी स्कूलों, दुग्ध डेयरी, सरकारी राशन की दुकानों पर जाकर व्यवस्थाओं का क्रियान्वयन देखा और समझा। खेतों पर भी पहुंचे एवं कृषि के तौर तरीके देखे।

किसानों द्वारा अपनाई जा रही प्राचीन एवं नई तकनीक देखकर उनसे चर्चा भी की। सरकारी स्कूलों में छात्रों को वीडियो के माध्यम से स्वच्छता के बारे में बताया एवं छात्रों को स्वच्छता की शपथ भी दिलाई। दल 18 अक्टूबर को तिलगारा आया था। उनके ठहरने का इंतजाम पंचायत भवन में किया गया था। मंगलवार को दल का प्रस्थान होगा। ये लोग गुजरात में सरदार पटेल स्टेच्यू जाएंगे। यह दल 26 अगस्त से दौरे कर रहा है।

लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन ऐकेडमी मसूरी के प्रतिभासिंह देहरादून, नंदनकुमार पटना, वसुधा शेरावत दिल्ली, अक्षय अग्रवाल महाराष्ट्र, जयसकुमार रांची एवं आर जगदीश कोयंबटूर तमिलनाडू का यह 6 सदस्यीय दल ग्रामीणों के व्यवहार एवं उनकी सहजता से काफी प्रभावित नजर आ रहा था। दल के सदस्यों ने बताया कि ऐकेडमी द्वारा 425 लोगों को मप्र, गुजरात, राजस्थान राज्यों के गावों में भेजा है। मप्र में 45 लोगों को धार, झाबुआ, रतलाम, आलीराजपुर, बड़वानी में भेजा है। धार जिला में तिलगारा के चयन को लेकर उन्होंने बताया कि यह स्थान ऐकेडमी द्वारा ही निर्धारित किया था।