स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नीलगाय अब झुंड में रौंद रही है खेतों को

Shyam Kumar Awasthi

Publish: Nov 26, 2019 00:13 AM | Updated: Nov 26, 2019 00:13 AM

Dhar

्प्रशासन को शिकायत के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

बदनावर. ग्रामीण अंचल में घोड़ारोज नीलगाय का प्रकोप बड़ता जा रहा है। कभी कभार दिखने वाली नीयगाय के अब झुंड विचरण करते नजर आ रहे हैं। ऐसे ही हालात रहे तो आने वाले समय में किसानों का खेती करना और फसलों की रक्षा करना दूभर हो जाएगा। झुंड के साथ खेतो में कुलाचे भरती नीलगाय फसलों को रौंंदती नजर आती है वहीं फसलें चट भी कर जाती है। पहले सूर्यास्त के बाद ही नीलगाय खेतों में घुसती थी लेकिन अब तो दिन में भी झुंड खेतों में नजर आने लगे है। अभी खेतों में मटर, गेहूं, लहसुन, चने की फसलें खड़ी हैं। नीलगाय के विचरण के कारण किसानों खासकर खेतों में काम कर रही महिलाओं को भय बना रहता है। झुंड के साथ नर नीलगाय भी विचरण करती है। भगाने के दौरान वह हमले पर उतारू हो जाता है, जिससे किसानों में डर बना रहता है। किसानों का कहना है प्रशासन स्तर पर भी अनेक बार आवेदन दिए लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। खेतों में नीलगाय द्वारा किए जा रहे नुकसान को किसान देखने के बावजूद कुछ करने में असमर्थ नजर आ रहा है।

[MORE_ADVERTISE1]