स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

करोड़ों के भवन में रख रहे मक्का और बांधे जा रहे मवेशी

Shyam Kumar Awasthi

Publish: Dec 14, 2019 00:15 AM | Updated: Dec 14, 2019 00:15 AM

Dhar

एक करोड़ 11 लाख की लागत से बना था ग्राम कलवानी में हायर सेकंडरी स्कूल भवन

गोविंद सोलंकी

मनावर. मध्य प्रदेश की तत्कालीन शिवराज सरकार के द्वारा उच्च शिक्षा के लिए भवनों का निर्माण किया गया। इसमें आदिवासी अंचल में छात्र-छात्राओं को भवन की कमी न रहे। इसे लेकर पूर्व विधायक रंजना बघेल की पहल पर ग्राम कलवानी में हायर सेकंडरी स्कूल की 12वीं तक की कक्षाएं प्रारंभ की गई तथा छात्र छात्राओं को पढऩे के लिए एक करोड़ 11 लाख की लागत का भवन स्वीकृत किया गया। भवन 5 मार्च-16 को बनकर तैयार हो गया। 16 नवंबर-16 को तत्कालीन विधायक रंजना बघेल ने भवन का उदघाटन भी कर दिया था। शिक्षकों तथा ग्राम वासियों द्वारा स्कूल में आने जाने के लिए स्कूल से सीधा लिंक रोड बनाने की मांग की जिससे मात्र 500 मीटर की दूरी पर स्कूल तथा सडक़ दोनों मिल जाती है । नए भवन तक पहुंचने के लिए जो मार्ग है । वह घुमावदार होने से ढाई किलोमीटर दूर पड़ता है तथा छात्राओं के पहुंचने के लिए घुमावदार मार्ग अनुकूल नहीं है। नए भवन के उदघाटन से लेकर आज 3 वर्ष बाद भी नए भवन तक सडक़ नहीं बन पाई है । बंद भवन के बाहर और अंदर किसान गाय ,भैंस और बेल बांध रहे हैं। अंदर पशुओं का चारा भरा हुआ है। कुछ कमरों में मक्का के भुट्टे ,प्राचार्य कक्ष में स्कूटी तथा स्टाफ कक्ष में मुर्गा, मुर्गी भरे हुए हैं। बरामदे में कच्चे चूल्हे पर खाना बनाया जा रहा है। इस प्रकार से पूरे स्कूल में लोगों ने कब्जा कर लिया है। खाली पड़े मैदान में रुखडे के ढेर मक्का की कड़बी रखी है। क्या शासन करोड़ों रुपए इसके लिए खर्च किया गया। पैसा इसी प्रकार अनुपयोगी रहेगा। कलवानी हायर सेकंडरी स्कूल में अधिकतर आसपास ग्रामीण क्षेत्रों के छात्र-छात्राएं पढऩे के आते हैं । अधिकतर बस या अन्य साधनों से स्कूल में पहुंचते हैं अगर स्कूल वाला लिंक रोड चालू होता है तो बच्चे सीधे नए स्कूल पहुंच सकते हैं। गांव वाला रास्ता काफी दूर है इसलिए भी नए भवन में कक्षाएं स्थानांतरित नहीं की गई है। नए भवन तक बिजली के लिए प्रशासकीय स्वीकृति भी मिल चुकी है । ग्राम पंचायत एवं जनप्रतिनिधि एवं राजस्व विभाग चाहे तो छात्र छात्राओं को नए स्कूल पहुंचे के लिए शीघ्र ही रास्ता मिल सकता है अन्यथा 1 करोड़ 11लाख रूपए की स्कूल अनुपयोगी सिद्ध कर धीरे-धीरे जर्जर हो जाएगा।

मुझे आप लोगों के माध्यम से मालूम पड़ा है। शीघ्र ही भवन से अतिक्रमण हटाया जाएगा एवं नए भवन के मार्ग के लिए नियमानुसार व्यवस्था की जाएगी। पूरे मामले का परीक्षण कर सीधे मार्ग निर्माण के लिए कार्यवाही की जाएगी ।
सत्यनारायण दर्रा एसडीएम मनावर

१४३२
ग्राम कलवानी के हायर सेकंडरी स्कूल में रखे भुट्टे और चारा।

[MORE_ADVERTISE1]