स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जरा मुरली बजा गोपाला...

sarvagya purohit

Publish: Aug 24, 2019 11:07 AM | Updated: Aug 24, 2019 11:07 AM

Dhar

जरा मुरली बजा गोपाला...

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर निकली शोभायात्रा, मटकी तोडऩे की लगी रही होड
पत्रिका लाइव
धार.
जरा मुरली बजा गोपाला..., छोटी-छोटी ग्यया..., यशोदा मती मैय्या से बोले नंदलाला...,दिवाना राधे का..., श्याम तेरी बंसु और डीजे पर झूमते हुए युवा...,जयकारों लगाते हुए लोग...। यह सब कुछ देखने को मिला शोभायात्रा में।
शुक्रवार को शहर में जन्माष्टमी का पूर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। शहर के मंदिरों में दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ देखने को मिली। रात 12 बजे श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। इस साथ ही मंदिरों में सुबह से भगवान श्रीकृष्ण का अभिषेक और विशेष पूजा अर्चना की गई। त्रिमूति स्थित सांवलिया सेठ मंदिर में भगवान का अभिषेक किया गया। इसके विशाल चल समारोह अखिल भारतीय यादव महासभा जिला धार ने निकाला। चल समारोह मंदिर से प्रारंभ होकर लालबाग, धानमंडी, आनंद चौपाटी होते हुए राजवाड़ा स्थित गोपाल मंदिर पर महाआरती होगी। रात 12 बजे कृष्ण जन्म के साथ महाआरती व प्रसाद वितरण किया गया। चल समारोह मार्ग पर यात्रा स्वागत मंचों से किया गया। सैकड़ों की संख्या में चल रहे भक्तगण भगवान श्रीकृष्ण के नारे लगाते हुए चल रहे थे।
यहां पर रही जन्माष्टमी की धूम
भगवान श्रीकृष्ण के दर्शन के लिए सुबह से भक्तों का ताता लगा रहा। रात 12 बजे जैसे भगवान श्रीकृष्ण के नारे से मंदिर गंूज उठा। भगवान भगवान श्रीकृष्ण के दर्शनों का सिलसिला 12 बजे तक चलता रहा। नगर के यादव समाज ने शोभायात्रा निकाली। शोभायात्रा की शुरुआत सांवरिया सेठ मंदिर से हुई। शोभायात्रा में बड़ी संख्या में महिला-पुरुष शामिल हुए। शोभायात्रा में भगवान कृष्ण का रूप धरे बालक आकर्षक का केंद्र थे। वहीं पालकी में भगवान कृष्ण को बैठाया गया था। शोभायात्रा का जगह-जगह स्वागत किया गया।
मटकी तोडऩे की लगी रही होड
शहर में कई स्थानों पर मटकी लगाई गई। मटकी फोडऩे के लिए प्रतिभागियों को होड लगी रही। इसके बस स्टैंड, पट्ठा चौपाटी, नालछा दरवाजा, पौ-चौपाटी, गंजीखाना, डिसलरी रोड, राय चौपाटी, पुराना बीजेपी कार्यालय हटवाड़ा, छत्रीपाल तिराहा, छोटा आश्रम, कुम्हार गड्ढा, दिलावरा रोड, पीएम रुप के पीछे दिलावरा रोड, भोज नगर, धानमंडी, रासमंडल, लक्की चौराहा, गाछावाड़ी, हटवाड़ा गुरूद्वारा सहित अन्य स्थानों पर मटकी लगाई गई। यहां पर गोविंदाओं ने पिरामिड़ लगाकर मटकी को फोड़ा।