स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भगोड़े भाजपा नेता सहित दो अन्य पर पांच हजार रुपए का इनाम घोषित

Amit S mandloi

Publish: Oct 22, 2019 16:37 PM | Updated: Oct 22, 2019 16:37 PM

Dhar

- श्री राजेंद्र सूरी साख संस्था में सदस्यों की जमा राशि नहीं लौटा रहे थे

धार.
राजगढ़ की श्री राजेंद्रसूरी संस्था में हजारों सदस्य थे। कई लोगों ने संस्था में अपना पैसा जमा कराया था। ये लोग जब पैसा निकालने पहुंचे तो इन्हें बार-बार आश्वासन दिया गया। बाद में शिकायतें हुई। शिकायत के बाद सहकारिता विभाग की ओर से भाजपा के नेता संस्था अध्यक्ष सुरेश तांतेड़ सहित 27 लोगों पर मुकदमा दर्ज कर लिया था। वहीं संस्था भी भंग कर दी गई है। एफआईआर के बाद से ही सभी लोग फरार है। तांतेड़ को भाजपा के आला नेताओं का वरदहस्त प्राप्त है, जिसके चलते से पुलिस की पकड़ में नहीं आ रहा है।
पुलिस अधीक्षक आदित्यप्रतापसिंह ने बताया कि संस्था के सुरेश तांतेड़,मुकेश कावडिया और बाबूलाल चावडा पर 5-5 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। ये लोग एफआईआर दर्ज होने के बाद से ही फरार चल रहे है। वहीं फरारी के दौरान इन्हें इंदौर के भाजपा नेताओं का संरक्षण प्राप्त है। तांतेड़ इंदौर के बड़े भाजपा नेताओं से जुडे है, जिसके चलते ये पुलिस पकड़ से बाहर है। सिंह ने बताया कि जानकारी देने वाले को प्रति व्यक्ति पांच हजार रुपए का इनाम दिया जाएगा।

अपनों बांटे लोन, गरीब कर रहे है इंतजार

भाजपा नेता ने नियम के खिलाफ 91 करोड़ के लोन बांट दिए। ये मामला भी जांच में साफ हो गया। वहीं कई गरीब ऐसे है, जो पन्नी बीनकर,ठेला लगाकर संस्था में रोज 50 से 100 रुपए जमाकराते थे। कई लोगों ने एफडी कराई थी। निर्धारित समय पर इन्हें पैसा नहीं मिला तो इन लोगों ने शिकायतें करना शुरू कर दिया। भाजपा का शासनकाल होने के कारण तांतेड़ पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई। बाद में सरकार बदली। इसके बाद विधायक सरदारपुर प्रताप ग्रेवाल ने मोर्चा खोला। इसके बाद सहकारिता विभाग ने जांच की तो पता चला कि नियमों के खिलाफ 91 करोड़ का लोन बांट दिया गया। वहीं लोगों के मेहनत की कमाई का पैसा नहीं दिया जा रहा है।

एक थाने पर हुई एफआईआर

सहकारिता विभाग ने बैंक के जिम्मेदारों सहित मैनेजरों पर एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद पुलिस ने निर्देश दिए थे कि जहां जो संस्था है उस थाना क्षेत्र में एफआईआर लिखाई जा सकती है। जिलेभर में संस्था की लगभग नौ शाखाएं है। जहां तांतेड़ की कई एफआईआर लांच हो गई है। वहीं तांतेड़ बचने के लिए पूरा दम लगा रहे है।