स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Breaking : जंगल में पड़ी थी बेटी, जान बचाने के लिए कंधे पर लेकर एक किलोमीटर तक दौड़े पिता

Hussain Ali

Publish: Sep 19, 2019 21:19 PM | Updated: Sep 19, 2019 21:19 PM

Dhar

घर पहुंचकर भी कोई साधन नहीं मिला तो बाइक पर ही उसे जिला अस्पताल के लिए निकल गए

धार. गुरुवार को शहर में एक दर्दनाक हादसा हो गया। अपने मवेशी चराकर घर लौट रही बालिका पर बिजली गिर गई। करीब 40 प्रतिशत झुलसी बेटी का दर्द पिता नहीं देख पाए और उसे कंधे पर उठाकर करीब एक किलोमीटर तक दौड़ लगाई। घर पहुंचकर भी कोई साधन नहीं मिला तो बाइक पर ही उसे जिला अस्पताल के लिए निकल गए। रास्ते में एंबुलेंस मिल गई।

must read : ट्रेन में पत्नी के पैर के पास बंदूक रख गए तीन लोग, पति से बोलीं पुलिस-लुटे नहीं हो, परेशान क्यों होते हो...

मिली जानकारी के अनुसार हादसा लक्ष्मी पिता तैरसिंह चंदाना के साथ हुआ है। वह नालछा के पिपलीमार्ग गांव की रहने वाली है। गुरुवार दोपहर लक्ष्मी कुछ साथियों के साथ मवेशी चराने गई थी। शाम 4 बजे तक नहीं लौटी तो पिता तैरसिंह उसे देखने के लिए जंगल गए। जंगल में नाले के पास बेटी पर बिजली गिर गई। पिता ने चीख सुनी तो उस तरफ दौड़े। पास जाकर देखा तो बेटी झुलसकर नाले के साइड खेत में पड़ी थी। पिता ने उसे तुरंत उठाया और कंधों पर लेकर घर की तरफ दौड़ लगा दी।

must read : कंपनी में सुधारने को दी होंडा सिटी कार तो वापस ही नहीं लौटाई, फरियादी ने चली ये तरकीब...

अस्पताल के लिए साधन नहीं मिला तो बाइक पर ही गोद में लेकर बेटी को लेकर निकल गए। इसी दौरान किसी ने एंबुलेंस को फोन कर दिया तो करीब दो किलोमीटर दूर सकलनपुर पहुंचे तो एंबुलेंस आ गई। वहां से बेटी को एंबुलेंस में अस्पताल लेकर पहुंचे। बालिका को बर्न वार्ड में भर्ती किया गया है। उसके पैर झुलस गए हैं।

must read : गर्लफ्रेंड को मुंबई से लाकर देता था ‘उत्तेजना’ जगाने वाला ड्रग्स, फिर वो करती थी ऐसा ‘गंदा’ काम...

बेटी की चिंता हो रही थी

पिता तैरसिंह का कहना है कि बेटी के साथ मवेशी चराने गए सभी लोग आ गए थे। बारिश हो रही थी तो बेटी की चिंता सताने लगी। जंगल में पहुंचने पर बिजली गिरने की आवाज सुनाई दी। देखा तो बेटी खेत में पड़ी थी। उसे कंधे पर उठाकर घर तक लाया।