स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

५ दिन में लूट की वारादात का किया पर्दाफाश

sarvagya purohit

Publish: Oct 20, 2019 11:18 AM | Updated: Oct 20, 2019 11:18 AM

Dhar


५ दिन में लूट की वारादात का किया पर्दाफाश


- लूट के 6 आरोपी धराए, नकदी, मोबाइल और मोटर सायकल जब्त की
धार.
मनावर में 4 दिन पहले मेडिकल कलेक्शन वाले के साथ डेढ़ लाख रुपए की लूट हो गई थी। इस घटना के बाद पुलिस ने ५ दिन में मामले का खुलासा कर दिया। इसमें ६ आरोपियों को पकड़कर पूछताछ की और मामले उजागर किया। पुलिस ने आरोपियों के पास से नकदी, मोबाइल, मोटर सायकल और कुछ सामान भी जब्त किया है।
शनिवार को स्थानीय कंट्रोल रूम में एसपी आदित्यप्रताप सिंह ने पत्रकारवार्ता में बताया कि फरियादी नरेंद्र चौहान बड़वानी मेडिकल एजेंसी पर काम करता है। वह अपने दोस्त के साथ मोटर सायकल से मेडिकल का पैसा कलेक्टर कर बड़वानी जा रहा था। शाम को पौने आठ बजे मांडवी, कोसवाड़ा के बीच पीछे से आई दो मोटर सायकल पर बैठे 4 अज्ञात बदमाशों ने फरियादी व उसके साथी के साथ लकड़ी व तलवार से हमलाकर चोट पहुंचाई। फरियादी व उसके साथी का रुपए से भरे दो बैग छिनकर भाग निकले थे। बैग में डेढ़ लाख रुपए और ६ चैक थे। फरियादी की रिपोर्ट पर थाना मनावर ने मामला दर्ज कर लिया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीओपी आनंद वास्केल, थाना प्रभारी युवराजसिंह चौहान व चौकी प्रभारी सिंघान उनि अभिषेक जाधव द्वारा घटना स्थल मांडवी, कोसवाड़ा का बारीकी से निरीक्षण किया एवं घटना स्थल के पास खड़ी अज्ञात मोटर सायकल के इंजन नंबर की जानकारी निकली। जानकारी में मोटर सायकल पलासी व अजनिया के युवकों के पास देखी गई। संदेह के आधार पर पुलिस ने टीम द्वारा दिनेश पिता रमेश मंडलोई निवासी पलासी, यशवंत पिता ओंकार मंडलोई निवासी पलासी, सेमसिंह उर्फ राहुल पिता मालसिंह निवासी अंजनिया, सुनील पिता गलिया मुवेल निवासी अंजनिया, जीतेंद्र पिता ओंकार मंडलोई निवासी अंजनिया और मुकेश पिता कालूसिंह मंडलोई निवासी पलासी को पकड़ा। सभी आरोपियों से टीम द्वारा सख्ती से पूछताछ की। सभी आरोपियों ने मांडवी, कोसवाड़ा रोड पर मोटर सायकल वालों से मारपीट कर लूटपाट करना कबूल किया। सभी आरोपियों के कब्जे से लूट की राशि में से अब तक १ लाख ६ हजार ५ सौ रुपए, दो बैग, दो रसीद कट्टे, १० बैंक के चेक तथा घटना में उपयोग में लाई गई ३ मोटर सायकल, 5 मोबालइ सहित अन्य सामान जब्त किया। इन आरोपियों को पकडऩे में प्रआर नरसिंह, आरक्षक रमेश, दीपक, शिवलाल का सराहयनीय कार्य रहा है। आरोपियों ने अभी पूछताछ की जा रही है।
बड़वानी में करवा रहे थे उपचार
एसपी सिंह ने बताया कि घटना के दिन मुकेश पिता कालूसिंह मंडलोई भी बाईक पिसलने के कारण घायल हो गया था। घटना दिनांक मुकेश को बड़वानी में एक अस्पताल में इलाज के लिए लेकर आए थे। इसकी जानकारी हमें लगी थी। इसके बाद हमारी टीम मोटर सायकल सहित अन्य बिंदुओं पर काम करते चले गए और कड़ी से कड़ी जोड़ते गए तो इस पूरी लूट की वारादात करने वाले आरोपियों तक पहुंच गए। इन सभी को न्यायालय में पेश किया जाएगा और इनका रिमांड भी लिया जाएगा ताकि अन्य मामले में इनसे पूछताछ की जा सकें।
शिक्षक निकला दरिंदा
एसपी सिंह ने प्रेसवार्ता में एक ओर खुलासा किया। २१ अगस्त १९ को एक स्कूल में पढऩे वाली छात्रा ने अपने माता-पिता के साथ बाग थाने में आकर रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि स्कूल के शिक्षक बलराम पिता खिल्लु अहिरवाल उम्र ३६ वर्ष निवासी चटवारी जिला महोवा (उप्र) ने स्कूल में फीस की रसीद देने के बहाने स्कूल में ही निवास रूम पर ले जाकर अश्लील हरकते कर रहा था। इस दौरान स्कूल की पियुन महिला आने से आरोपी मौके से भाग निकला था। बाग पुलिस ने पाक्सो एक्ट के तहत मामला विवेचना में लिया। इस दौरान पीडि़ता को न्याय दिलाने के लिए एसडीओपी मनोहर बारिया, कमलेश सिंगार, उपनिरीक्षक जगदीश चौहान व उनकी टीम द्वारा आरोपी को पकडऩे के लिए उत्तरप्रदेश की जानकारी मिली। इस दौरान टीम उत्तरप्रदेश पहुंची और वहां घेराबंदी करके गिरफ्तार किया। २३ अगस्त को अपर सत्र न्यायालय कुक्षी में चालान पेश किया गया। यहां पर न्यायधीश प्रवीणा व्यास के सामने गवाहों के कथन करवाए और पीडि़ता पक्ष को ५४ दिन में न्याय दिलवा दिया। आरोपी शिक्षक बलराम पिता खिल्लु अहिरवाल को चार साल का सश्रम कारावास व ५ हजार रुपए के अर्थदंड की सजा सुनाई।