स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाइक पर पिता के साथ घूमने आए दो मासूम बेटे, पोखर में मिली दोनों की लाश, बाप हुआ फरार

Hussain Ali

Publish: Nov 29, 2019 18:00 PM | Updated: Nov 29, 2019 18:00 PM

Dhar

मासूम बेटों की हत्या के मामले में पिता पर हत्या का प्रकरण दर्ज

बदनावर. ग्राम मुलथान के ग्रिड रोड स्थित पोखर में दो सगे भाई आयुष 6 एवं शिवम 4 की डूबने से मौत हो गई। इस मामले में जांच एवं कथनों के आधार पर बच्चों के पिता धर्मेंद्र पग्गी के विरुद्ध हत्या का प्रकरण दर्ज किया है। 23 सितंबर को दोनों बच्चों की लाश पोखर में तैरती मिली थी। विवेचना के दौरान यह पाया गया कि बच्चे काफी छोटे होने से पोखर तक जा नहीं सकते। पानी में डूबने से उनकी मौत हुई है। वहीं अंतिम बार बच्चे को पिता के साथ बाइक से जाते साक्ष ने देखा है। धर्मेंद्र बाइक छोडक़र फरार हो गया।

must read : मां हुई बीमार तो टोने-टोटके के शक में पड़ोसन के साथ कर डाला ऐसा काम

पत्नी मायाबाई, नाना बद्री, नानी रेशमबाई, मामा राजेश एवं साक्षी करण के कथनों के आधार पर धर्मेंद्र पग्गी को हत्या का आरोपी बनाया गया है। आरोपी धर्मेंद्र अपने ससुराल छौखुर्द में झोपड़ी बनाकर रहता था, पत्नी मजदूरी करने जाती और वह बच्चों की देख भाल करता था। माया ने बताया कि परिवार को चलाने के लिए काम करना पड़ता है, लेकिन पति धर्मेंद्र को काम करना पसंद नहीं था, इसलिए उससे विवाद होता था कि या तो मजदूरी करे या फिर बच्चो को संभाले।

must read : रिव्यू करवाने पहुंचे छात्र से बोला कर्मचारी- मनचाहा रिजल्ट चाहिए तो कागज पर रखो ‘वजन’

यह है पूरा मामला

मुलथान ग्रिड रोड के पास बने पोखर में दो भाई आयुष एवं शिवम के शव पोखर की सतह पर तैरते पाए गए थे। लाशे दो तीन दिन पुरानी प्रतीत हो रही थी। दोनों बालकों की चप्पले भी पानी में दूसरी तरफ तैरते मिली थी। वहीं पठानबाबा मजार के पास बाइक एमपी-11-एमसी-7204 भी लावारिस हालत में पड़ी होने से बच्चों की मौत को भी इससे जोड़ा जा रहा था। ग्राम पग्गी पाड़ा का धर्मेंद्र अपने ससुराल रिटोड़ा से गत शनिवार को अपने दोनो बेटों आयुष एवं शिवम को ससुर बद्री पिता नंदा की बाइक से लेकर पग्गीपाड़ा जाने के लिए निकला था। सोमवार को बच्चों के शव पोखर में तैरते पाए गए थे। धर्मेंद्र का अब तक पता नहीं चल पाया है।

[MORE_ADVERTISE1]