स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां खुलेआम काले कांच लगी गाड़ी में लोड होती है शराब, आबकारी अमले पर है कांग्रेस नेता का दबाव

Reena Sharma

Publish: Sep 20, 2019 12:44 PM | Updated: Sep 20, 2019 12:44 PM

Dhar

एक दिन में 4-5 राउंड में गांव-गांव पहुंच रही, नेता के दबाव में अमला

अमित एस मंडलोई @ धार. अभी तक तो शराब की खेप रात के अंधेरे में गांव-गांव पहुंचाई जा रही थी, लेकिन अब दिन के उजाले और मुख्य सडक़ पर वाहन खड़े कर ठेके से शराब भरी जा रही है। दिन में एक बार नहीं चार से पांच बार कई गाडियां गांव-गांव शराब भेजकर ग्रामीणों की जान आफत में डाल रही हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में कई बार गांव में किराना दुकानों से मिल रही शराब को लेकर आंदोलन किए, लेकिन आबकारी अमला निष्क्रिय रहा है। इस गौरखधंधे के पीछे एक कांग्रेस नेता का दबाव आबकारी अमले पर जबरदस्त बताया जा रहा है, जिसके चलते अब हर छोटे-छोटे गांव में खुलेआम शराब ठेकेदार भेज रहे है। आबकारी अमला जानकर भी अनजान बना हुआ है।

पहले रखी पेटियां, फिर रखी शराब की बोतलें

गुरुवार दिन में डेढ़ से दो के बीच में बख्तावर मार्ग की शराब दुकान के बाहर एक चार पहिया वाहन खड़ा था। इसे दुकान से सटाकर लगाया। एक युवक ने पीछे के गेट खोले फिर दुकान से शराब की पेटियां इसमें रखने लगा। बाद में दो युवक आए जिनके हाथों में शराब की बोतलें थीं, जिसे वाहन में रख दिया। जबकि दुकान से निश्चित मात्रा से शराब दे ही नहीं सकते है। तत्कालीन आबकारी अधिकारी संजीव दुबे ने देवास में दो बॉटल से अधिक देने पर पाबंदी भी लगाई थी। पत्रिका के पास इसके वीडियो सुरक्षित है।

किराना दुकान पर बिक रही थी शराब, जब्त

यहां खुलेआम काले कांच लगी गाड़ी में लोड होती है शराब, आबकारी अमले पर है कांग्रेस नेता का दबाव

जिलेभर में किराना दुकानों पर अवैध रूप से शराब बेची जा रहा है। अमला इक्का-दुक्का कार्रवाई कर रहा है। इसी कड़ी में अमले ने सरदारपुर में कार्रवाई की। सहायक जिला आबकारी अधिकारी बसंती भूरिया, आबकारी उप निरीक्षक मनोज अग्रवाल वृत्त सरदारपुर के नेतृत्व में ग्राम बांदेड़ी, सोनियाखेड़ी, चंदोडिय़ा, चुनियागडी, बरमखेड़ी, पदुनीखुर्द, पदुनीकलां, बरमंडल, राजोद, गोंदीखेड़ा ठाकुर, बसलाई, नंदलाई में दबिश दी गई । इसमें कुल8 प्रकरण दर्ज किए ।

प्रतिबंध की उड़ा रही धज्जियां

ये वाहन रोज चार से पांच चक्कर लगाकर ग्रामीण क्षेत्रों में शराब पहुंचाने का काम कर रहा है। परिवहन विभाग ने काले कांच के वाहनों को प्रतिबंध किया हुआ है। इस वाहन के कांचों पर काली फ्रेम लगी है, ताकि अंदर क्या रखा हैपता नहीं चल सके। इसके अलावा पीछे की नंबर प्लेट ही टूटी है। जो आगे नंबर प्लेट लगी है वो अन्य प्रदेश की है।

सहायक आबकारी अधिकारी ने फोन उठाना उचित नहीं समझा। जब एडीओ दिलीप कनासे से संपर्क किया तो उन्होंने टाउन इंस्पेक्टर मनोज अग्रवाल पर ढोल दिया, जबकि कार्रवाई क्षेत्र के अधिकारी आबकारी आयुक्त के बाद कनासे है, फिर भी उन्होंने अग्रवाल से संपर्क करने को का।

जल्द कार्रवाई करता हूं

अगर ऐसा हो रहा है तो गलत है। मैं जल्द कार्रवाई करता हूं।

- मनोज अग्रवाल, उपनिरीक्षक आबकारी