स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

23000 ग्राम रोजगार सहायक 23 अक्टूबर को भोपाल में जेल भरो आंदोलन कर देंगे गिरफ्तारियां

sarvagya purohit

Publish: Oct 22, 2019 11:22 AM | Updated: Oct 22, 2019 11:22 AM

Dhar


23000 ग्राम रोजगार सहायक 23 अक्टूबर को भोपाल में जेल भरो आंदोलन कर देंगे गिरफ्तारियां


- छठवें दिन भी हड़ताल जारी, ग्रामीण परेशान
धार.
अपनी अनार्थिक मांगों को लेकर 16 अक्टूबर से प्रदेश अध्यक्ष रोशन सिंह परमार के आहान पर हड़ताल पर बैठे जिले की 13 जनपद पंचायतों के 761 ग्राम रोजगार सहायक (सहायक सचिव) सोमवार को हड़ताल पर बैठे रहे है। हड़ताल होने से शासन की लगभग समस्त योजनाओं को धरातल पर गांव के अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का सफल क्रियान्वन नहीं हो पा रहा है जिससे ग्रामीण भी पंचायत आकर खाली हाथ लौट रहे है। ग्राम रोजगार (सहायक सचिव) का कहना है कि सरकार द्वारा भी सहायक सचिवों को आश्वासन के अलावा कुछ नहीं दिया। वर्तमान सरकार ने भी 90 दिन का वचन पत्र देखकर आज 10 माह पूर्ण हो गए। अगर आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला। आगामी २३ अक्टूबर को पूरे प्रदेश के २३ हजार ग्राम रोजगार सहायक (सहायक सचिव) भोपाल में कुच करेंगे और यहां पर दांडी यात्रा निकालकर गिरफ्तारी देंगे।
सरकार द्वारा अपने वचन पत्र के पेज नंबर 34 बिंदु क्रमांक 7 के अनुसार ग्राम रोजगार सहायकों (सहायक सचिव)को 90 दिन में नियमित करने का वचन दिया था, जो कि आज 10 माह बीतने के बावजूद ग्राम रोजगार सहायक (सहायक सचिव) के हित में कोई आदेश नहीं आया, जिससे पंचायत सहायक सचिवों में भारी आक्रोश है। पंचायत सहायक सचिव पंचायत ग्रामीण विकास विभाग का सबसे अल्प मानदेय में कार्य करने वाला कर्मचारी है। ग्राम पंचायतों में 26 विभागों की योजना जैसे महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, स्वच्छ भारत योजना ग्रामीण
समस्त प्रकार के अधोसंरचना के निर्माण कार्यों का जियोटेग, नया सवेरा सम्बल योजना, समग्र सुरक्षा योजना सहित अन्य योजनाओं को ग्रामीणों तक पहुंचाते है।
ग्रामीण परेशान
पंचायत सहायक सचिव को हड़ताल बैठे हुए है। जिले की ७६१ ग्राम पंचायतों के सहायक सचिव अपनी-अपनी जनपद पंचायतों में धरना प्रदर्शन कर रहे है। इधर इनके हड़ताल पर बैठने से शासन की कई हितग्राही योजना के लिए आ रहे ग्रामीणों को खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। शासन को अनार्थिक मांगों पर जल्द से जल्द निराकरण नहीं हुआ तो आगामी दिनों में ग्रामीणों को योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाएगा।
यात्रा निकालकर गिरफ्तारी देंगे
जब तक हमारी मांग पूरी नहीं होती जब तक हम हड़ताल पर बैठे रहेंगे। आगामी २३ अक्टूबर को प्रदेश के समस्त रोजगार सहायक सचिव भोपाल एकत्रित होंगे। यहां से एक दांडी यात्रा निकालकर अपनी गिरफ्तारी देंगे।
-राहुल यादव, प्रदेश मीडिया प्रभारी, पंचायत सहायक सचिव कर्मचारी, संगठन मप्र