स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

१०० साल पुराना भवन हुआ अति वर्षा के चलते धराशायी

sarvagya purohit

Publish: Sep 23, 2019 11:11 AM | Updated: Sep 23, 2019 11:11 AM

Dhar

१०० साल पुराना भवन हुआ अति वर्षा के चलते धराशायी


-जन हानि नहीं हुई, देर रात को गिरा था भवन
धार.
मालवा चर्च काउंसिल मसीही सेवा मंडल के चिकित्सा आयोग अंतर्गत संचालित मसीही चिकित्सालय धार का पश्चिमी भाग अति वर्षा के कारण विगत रात धाराशायी हो गया। भवन के धारशायी होने से किसी भी प्रकार की जन हानि नहीं हुई है। यहां पर प्रति रविवार को समाज के लोग एकत्रित होकर आराधना करते है। यदि यह हादसा रविवार को सुबह के समय होता तो लोग समाज के लोग भी घायल हो सकते थे।
इस भाग में प्रेसबिटेरियन ईसाई समाज के लोग वर्तमान में विगत ३० वर्षों से साप्ताहिक चर्च आराधना और अनेक सामाजिक एवं कल्याणकारी कार्यक्रमों का संचालन कर रहे थे। चिकित्सालय लगभग १०० वर्ष पुराना है, जिसमें प्रथम मिशनरी डॉक्टर मार्गरेट ओहारा ने चिकित्सा सेवा का शुभारंभ किया था।
---------
अधिक बारिश से किसान परेशान, खेतों में खराब हो रही फसल, सब्जियां
रिंगनोद.
यहां और आसपास के गांवों में हो रही लगातार बारिश ने किसानों की मुश्किलों को बढ़ा दिया है। अधिक बारिश से खेतों में पानी भर जाने से फसलें खराब होने का भय किसानों को सताने लग गया है। साथ ही किसानों की पककर तैयार सोयाबीन और मक्का की फसल बारिश से खराब होने लग गई है। खेतों में पानी भरने से सबसे अधिक नुकसान सोयाबीन का फसल को हुआ है। यहां पर सोयाबीन की कई किसानों की फसल पूरी तरह बर्बाद हो गई है और जो पककर तैयार सोयाबीन और मक्का की फसल खेतों में खड़ी है। लगातार बारिश से सोयाबीन की फलियों में अंकुरित और मक्का में सडऩ लगने का भय भी किसानों को सता रहा है।
रिंगनोद के किसान मोहन हामड़, रमेश चोयल, मन्ना लछेटा ने बताया की लगातार बारिश से खेतों में लगाई मिर्च, टमाटर और अन्य सब्जियां खेतों में ही गलने लग गई है। यदि जल्द ही बारिश बंद नही हुई तो सब्जियों की फसल खराब होने पर दुगने दाम पर सब्जी बाजार में मिलने लगेगी।
लगातार हो रही बारिश के कारण किसान चिंतित है उन्हें अपनी अधिक बारिश से बर्बाद हुई सोयाबीन और मक्का की फसलों के मुआवजे को लेकर पटवारी और कृषि विभाग अधिकारियों सहित तहसील कार्यालयों के चक्कर काट रहे हैं।
पंचनामा बनाया जा रहा है
सरदारपुर तहसील के गांवों में अधिक बारिश से खराब हुई। फसलों का टीम द्वारा मुआयना कर पंचनामा बनाया जा रहा है।
- महेशचंद्र बड़ोले, एसडीएम, सरदारपुर