स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एडवेंचर पसंद करने वालों को जरूर करनी चाहिए इन जगहों पर ट्रिप

Amanpreet Kaur

Publish: Dec 08, 2016 11:28 AM | Updated: Dec 08, 2016 11:28 AM

Destinations

एडवेंचर पसंद करने वाले अक्सर अपने लिए ऐसी जगहें तलाशते रहते हैं जहां वे छुट्टी मनाने जा सकें

दुनिया में ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें खतरों से खेलने का शौक है। एडवेंचर पसंद करने वाले अक्सर अपने लिए ऐसी जगहें तलाशते रहते हैं जहां वे छुट्टी मनाने जा सकें और साथ ही कुछ रोमांच भी हो। आज हम आपको कुछ ऐसी ही जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां एडवेंचर पसंद लोगों के लिए बहुत कुछ है।

ट्रॉलटूंगा, नॉर्वे


यह दुनिया की सबसे खूबसूरत चट्टान है। यहां पत्थरा का एक बड़ा टुकड़ा 700 मीटर की ऊंचाई पर लटका है और लोग यहां एडवेंचर का मजा लेने आते हैं। इन चट्टानों के टॉप तक पहुंचने में कम से कम 8-10 घंटे लग जाते हैं। जून मध्य से सितंबर मध्य के बीच पूरी दुनिया से हाइकर यहां हाइकिंग और एडवेंचर स्पोर्ट्स के लिए आते हैं। यह जगह नॉर्वे की होर्डालैंड काउंटी से सिर्फ 17 किमी दूर है। यहां से नॉर्वे की दूसरी सबसे बड़ी काउंटी- बरजेन की दूरी 190 किमी है। ट्रॉल्स टंग के इर्द-गिर्द कोई रेलिंग नहीं लगाई गई है, ताकि यहां की नेचरल ब्यूटी को महफूज रखा जा सके।

हुआना पिच्चु की ऊंची चोटियों से सालों पहले यहां बसे माचू पिच्चु का सबसे खूबसूरत नजारा दिखाई देता है। लेकिन यहां तक पहुंचना भी आसान नहीं। गहरी खाईयों, टेढ़े-मेढ़े रास्तों और ऊंची-ऊंची सीढ़ियों से होकर गुजरना पड़ता है।

पाकिस्तान के उत्तरी भाग में गिलगिट बलिस्तान में बना है हुसैनी ब्रिज। जो हुन्जा को पाकिस्तान से जोड़ता है। सालों पहले बने इस रोपवे ब्रिज पर चलना बहुत ही खतरनाक होता है। इस पर चलते हुए पाएंगे कि बहुत सारे पटरे गायब है। हवा के तेज झोंके से पटरियां हिलती रहती हैं। इतने सारे खतरों के बावजूद भी टूरिस्ट इस एडवेंचर को एन्जॉय करने आते हैं।

आयरलैंड के घुमावदार पहाड़ों में बाइकिंग करना, न सिर्फ यहां के बल्कि बाहर से आने वाले सैलानियों का भी पसंदीदा स्पोर्ट है। महज 4 फीट चौड़ा रास्ता और तेजी से चलती हवाएं, यहां के रोमांच को दोगुना करती हैं।

चीन का माउंट हुआशन, एडवेंचर का एक्सपीरियंस लेने के लिए बेहतरीन जगहों में से एक है। पहाड़ों की खड़ी ढ़ालों पर, छोटे-छोटे पत्थरों और लड़की के टुकड़ों पर ट्रैकिंग करने का अलग ही मजा होता है। दोनों तरफ आसमान को छूते पहाड़ और नीचे गहरी खाई इस जगह के रोमांच को और बढ़ाती है।

लद्दाख के जंस्कार में एक अलग ही तरह की मोनेस्ट्री देखने को मिलेगी जो लकड़ियों और मिट्टी से बनी हुई है। पहाड़ों पर बने इस मोनेस्ट्री को नीचे से देखने पर ऐसा लगता है जैसे मधुमक्खी का बड़ा सा छत्ता। यहां पहुंचने के लिए गाड़ी, घुड़सवारी या किसी भी अन्य तरह की सुविधा नहीं मिलती। पैदल ही सफर तय करना होता है।12,604 फीट ऊंचाई से यूरोप की खूबसूरती को देखने का अलग ही मजा है।