स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कांग्रेस ने नामदार को बचाने के लिए हार का ठीकरा दूसरे के सिर फोड़ने की तैयारी शुरू की-नरेंद्र मोदी

Prateek Saini

Publish: May 15, 2019 16:43 PM | Updated: May 15, 2019 16:43 PM

Deoghar

नरेंद्र मोदी ने कहा कि दूसरी तरफ झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस के लोग घुसपैठियों के साथ खड़े हैं। लेकिन पार्टी का स्पष्ट मत है कि सरकार देश में एक-एक घुसपैठिए की पहचान करेगी...

(देवघर): भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि लोकसभा चुनाव परिणाम आने के पहले ही कांग्रेस ने नतीजों को लेकर तैयारी शुरू कर दी है, लोकसभा चुनाव में भाजपा और एनडीए गठबंधन को आपार समर्थन मिल रहा है, ऐसी स्थिति में कांग्रेस अपनी सुनिश्चित हार के बाद नामदार को बचाने के लिए रास्ता ढूंढ़ रही है, कांग्रेस में बड़ी-बड़ी बैठकें हो रही है, कैसे नामदार को बचाया जा सका। ऐसा कहना वंशवाद के उसूलों के खिलाफ होगा कि चुनाव नामदार की वजह से हार गये, इसलिए पांचवें चरण के चुनाव बाद सबसे पहले नामदार परिवार के दो करीबियों ने बैटिंग शुरू कर दी। वरना उनकी हिम्मत नहीं थी कि बिना कप्तान की अनुमति मैदान में खेलने उतर जाए। एक बल्लेबाज जो नामदार का गुरु है, उन्होंने सिखों की भावना का मजाक उड़ाते हुए 1984 के दंगे को लेकर यह टिप्पणी की कि- हुआ, सो हुआ। दूसरा बल्लेबाज जो गुजरात विधानसभा चुनाव में हिट विकेट होने के बाद मैदान से बाहर था, उन्हें गाली देने के बाद छिपे थे, वह भी अब मैदान पहुंच गये और जमकर उन्हें गालियां दे रहे हैं। नरेंद्र मोदी आज झारखंड में देवघर में चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस जनसभा में संताल परगना प्रमंडल के तीन लोकसभा सीटों गोड्डा, राजमहल और दुमका के नेता-कार्यकर्त्ता प्रधानमंत्री को सुनने पहुंचे थे।


मौजूदा सरकार पर नहीं कोई दाग

नरेंद्र मोदी ने कहा कि पांच वर्षों में घोटाले का एक दाग उनकी सरकार पर नहीं है और जब ये बात वे बाबा धाम में कह रहे है तो उन्हें गर्व है कि उनके इस भक्त को ईमानदार सरकार का नेतृत्व करने का देश की जनता ने सौभाग्य दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और झारखंड मुक्ति पर कटाक्ष करते हुए कहा कि आदिवासी भाई-बहनों को वोट के लिए महामिलावटी लोग ठग सकते है, ये लोग किसी को भी ठग सकते हैं। नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब तक नरेंद्र मोदी है तब तक लोगों की जमीन, उनके हक को कोई हाथ नहीं लगा पाएगा। उन्होंने कहा कि वन धन और जन-धन योजना के माध्यम से वन उपज का ज्यादा से ज्यादा लाभ आदिवासियों को मिले और उन्हें बिचौलियों से मुक्ति मिले, सरकार यह सुनिश्चित करने का प्रयास कर रही है। सरकार ने वन उपज पर एमएसपी का दायरा भी बढ़ाया है। पहले 10 वन उपजों पर ही एमएसपी मिलता था, अब इसकी संख्या बढ़ाकर 50 कर दी गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार बाबाधाम देवघर का विकास करने के लिए और यहां सुविधाओं का विकास करने के लिए पूर्णतः प्रतिबद्ध हैं। यही कारण है कि यहां रेल और रोड के साथ एयरपोर्ट पर भी काम किया जा रहा है।


एक—एक घुसपैठिए की करेंगे पहचान

नरेंद्र मोदी ने कहा कि दूसरी तरफ झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस के लोग घुसपैठियों के साथ खड़े हैं। लेकिन पार्टी का स्पष्ट मत है कि सरकार देश में एक-एक घुसपैठिए की पहचान करेगी। उन्होंने कहा कि राष्ट्र रक्षा जैसे विषयों पर भी कांग्रेस और महामिलावटियों के मुंह पर ताला लग गया है। आतंकवाद ऐसी चुनौती है जिसका कड़ाई से मुकाबला जरूरी है, लेकिन कांग्रेस की नीतियां ऐसी रही हैं कि वो आतंकवाद और नक्सलवाद को कुचल नहीं सकती। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब देशद्रोह का कानून भी खत्म करना चाहती है, कांग्रेस पत्थरबाज़ों, आतंकियों और उनके समर्थकों, नक्सलियों और उन्हें खाद पानी देने वालों को खुली छूट देना चाहती है। भाजपा इन्हें ऐसा कतई करने नहीं देगी।

 

जनजातीय नायकों को किया याद

प्रधानमंत्री ने जनजातीय नायकों को याद करते हुए सरकार झारखंड समेत देशभर के जनजातीय नायकों के सम्मान के लिए प्रतिबद्ध है, इन नायकों की गाथा को नयी पीढ़ी को बताने के लिए संग्रहालय का निर्माण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे पहले के लोगों को संताल की कोई प्रवाह नहीं था, लेकिन उन्होंने संताली भाषा में रेलवे स्टेशनों पर उदघोषणा शुरू करवायी, यह पहले भी हो सकता था, लेकिन उनमें अंहकार था। बचपन में पढ़े एक फिल्म के इंटरव्यू का जिक्र करते हुए नरेंद्र मोदी ने बताया कि संताल में एक फिल्म की शूटिंग चल रही थी, तीन दिन तक लोग इसे शांतिपूर्ण तरीके से देख रहे थे, लेकिन तीसरे दिन जैसे ही तीर चलाने का एक दृश्य सामने आया, तो संताली आदिवासियों ने हंगामा शुरू कर दिया, अचानक हुए हंगामा से सभी आश्चर्यचकित रह गये, हंगामा करने के कारणों को जानने का प्रयास किया गया, तो प्रदर्शन कर रहे लोगों ने बताया कि वे लोग तीर चलाने में अंगूठे का प्रयोग नहीं करते,क्योंकि वे उनके वंशज है, जिन्होंने अपना अंगूठा गुरु को दान कर दिया है और उनके वंशज तीर चलाने में अंगूठे का प्रयोग नहीं करते,ऐसे जनजातीय समाज के लोगों से उनका सिर भी उंचा जाता है।

 

यह लोग रहे मौजूद

इस अवसर पर मुख्यमंत्री रघुवर दास, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद लक्ष्मण गिलुवा, आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश महतो, लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र प्रधान, मंत्री लुईस मरांडी, राज पालिवार, रणधीर सिंह, विधायक अशोक कुमार, अनंत ओझा समेत अन्य वरिष्ठ नेता उपस्थित थे।