स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यातायात व्यवस्था चौपट, एम्बुलेंस भी जाम में फंसी

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Dec 12, 2019 09:53 AM | Updated: Dec 12, 2019 09:53 AM

Dausa

Traffic system collapsed in bandikui, ambulance also stuck in jam: दिन में भारी वाहनों के प्रवेश पर लगे रोक तो मिले राहत

बांदीकुई. शहर में बुधवार शाम यातायात व्यवस्था पूरी तरह चौपट दिखाई दी। इस मार्ग पर वाहनों की लम्बी कतार दिखाई दी। लोगों को एक से दो घण्टे जाम से निकलने में लग गए, लेकिन वाहन आड़े तिरछे फंस जाने से लोग भी पुलिस व प्रशासन को कोसते दिखाई दिए। हालात ये हो गए कि 108 एम्बुलेंस व एक निजी एम्बूलेंस भी जाम में फंस गई। करीब आधा घण्टे तक चालकों द्वारा हॉर्न बजाने पर भी एम्बुलेंस को निकलने के लिए जगह नहीं मिल पाई। बाद में कुछ लोगों ने वाहनों को आड़ा-तिरछा कर दोनों एम्बूलेंस को निकाला।

Traffic system collapsed in bandikui, ambulance also stuck in jam

पीडब्ल्यूडी तिराहे से स्टेशन रोड तिराहे तक सड़क के बीच रैलिंग लगाकर डिवाइडर बनाए गए, लेकिन आगरा फाटक ऐसा पाइंट है। जिससे ही बडिय़ाल रोड, बसवा रोड, सिकंदरा रोड, अस्पताल रोड के मार्ग जुड़े हुए हैं। ऐसे में यदि आगरा फाटक पर जाम लग जाता है तो पांचों प्रमुख मार्गो पर भी जाम लग जाता है। इसमें भी कई बार बड़े वाहन फंस जाते हैं तो फिर यातायात सुचारू करना पुलिस के लिए भी मुश्किल हो जाता है।

लोगों का कहना है कि यदि पुलिस व प्रशासन की ओर से सुबह 8 से रात 8 बजे तक भारी वाहनों के शहर में प्रवेश पर रोक लगा दी जाए और दुकानों के आगे नालियों से बाहर अस्थाई अतिक्रमण को हटवा दिया जाए तो कुछ हद तक जाम की समस्या से राहत मिल सकती है। यह जाम लोगों के लिए कोढ़ में खाज बन चुका है। शाम को माधोगंज मण्डी से सिकंदरा रोड, बडिय़ाल रोड, बसवा रोड तक वाहनों की कतार लगी रही।

गौरतलब है कि इससे पहले भी जाम में एम्बुलेंस के फंसने से नियत समय पर चिकित्सालय नहीं पहुंचने से कई लोगों की मौत तक हो चुकी है, लेकिन इसके बावजूद भी पालिका, पुलिस व प्रशासन के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है और आमजन को जाम की समस्या से राहत देने के लिए कोई प्रयास नहीं किए जा रहे हैं।

इसका असर पर व्यापार पर भी पडऩे लगा है। ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी जाम से होने वाली परेशानी के चलते खरीदारी तक करने आने में हिचकिचाहट महसूस करने लगे हैं। लोगों का कहना है कि यदि रेल प्रशासन केशोपुरा से गुल्लाना तक रेल लाइन बिछाकर आगरा वाले रूट को डायवर्ट कर दे तो समस्या का स्थाई समाधान संभव है। हालांकि इसके लिए रेल प्रशासन की ओर से सर्वे भी किया जा चुका है, लेकिन बाद में मामले को ठण्डे बस्ते में डाल दिया गया। ऐसे में अब लोगों की जाम की समस्या के समाधान की उम्मीद भी टूटती दिखाई दे रही है।

Traffic system collapsed in bandikui, ambulance also stuck in jam

[MORE_ADVERTISE1]