स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मोहर्रम पर मातमी धुन के बीच निकाले ताजिये

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Sep 11, 2019 08:02 AM | Updated: Sep 11, 2019 08:02 AM

Dausa

Take out the melody on the moharram: पट्टेबाजों ने दिखाए करतब

दौसा. हजरत इमाम हुसैन की शहादत की याद में मोहर्रम के मौके पर मंगलवार को दौसा में मोहल्ला शेखान व नागौरी मोहल्ले से मातमी धुन के बीच ताजिये निकाले गए। रास्ते में कई जगह छबीलें लगाई गई तो पट्टेबाजों ने भी करतब दिखाए। अन्य समाज के लोगों ने ताजियों पर फूल व पतासे चढ़ाए। इससे पहले सोमवार रात दोनों मोहल्लों के इमामबाड़े से रवाना हुए जुलूस किला सागर पहुंचे। जहां पट्टेबाजों ने करतब दिखाए।

Take out the melody on the moharram

इसके बाद सुबह ये ताजिए अपने-अपने इमामबाड़े पहुंच गए। मंगलवार को नागौरी मोहल्ला से रवाना हुआ ताजिये का जुलूस नला, मोहल्ला, पुराना खादी भण्डार, गुप्तेश्वर गेट से होते हुए कर्बला पहुंचा। जहां ताजिये को दफनाया गया। इसी तरह शेखान मोहल्ले से रवाना हुआ ताजिया जुलूस देशवाली मोहल्ला, नला मोहल्ला, गांधी चौक होता हुआ शाम को कर्बला पहुंचा। जहां ताजिये को सुपुर्द ए खाक किया गया।

लालसोट. शहर में ताजियों का जुलूस बड़ा मोहल्ला से रवाना होकर विभिन्न मार्गों से होते हुए कर्बला गणगौरी मैदान पहुंचा। जहां ताजियों को दफनाया गया। जुलूस में मुस्लिम समाज के लोगों एवं युवाओं ने ढोल, ताशे पर मातमी धुने बजाई। अखाडों बाजों द्वारा विभिन्न तरह के करतब भी दिखाए गए।दिलशाद अली, अफजल अली, मुन्ना खां, इमरान, रहीश पटेल, फकीर मोहम्मद, फूल खान, शहजाद अली, रहीश खान, ईशाक खान, हनीद, वसीम खान इत्यादि ने ढोल ताशे बजाकर करतब पेश किए।

जुलूस में पुलिस व प्रशासन की ओर से भी चाक चौबन्द व्यवस्था रखी गई। इसी तरह रामगढ़ पचवारा एवं मण्डावरी कस्बों में भी जुलूस निकालकर ताजियों को दफनाया गया। (नि.सं.)

महुवा. मुस्लिम समुदाय के द्वारा मंगलवार को मातमी धुनों के साथ ताजिए मोहर्रम का जुलूस निकाल कर ताजियों को कर्बला में दफनाया गया। जानकारी के अनुसार कस्बे के मुख्य बाजार स्थित गणेश चौक से मातमी धुनों के साथ ताजिया मोहर्रम निकाले गए । मोहर्रम जुलुस के दौरान पट्टे बाजों द्वारा हैरतअंगेज करतब दिखाए गए। जिसे देखकर लोग आश्चर्यचकित हो गए। उनके द्वारा अपने शरीर व मुंह आदि से होकर नुकीली कीलें, कैंचिया चमड़ी से पार निकाली गई। मोहरम कस्बे के मुख्य बाजार, पंचायत समिति रोड, नगरपालिका, माली मोहल्ला होते हुए नयागांव पहुंचा। जहां कर्बला में ताजिए दफनाए गए ।

लियो क्लब के द्वारा मोहर्रम जुलूस का शरबत पिला कर स्वागत किया गया। इस दौरान कानून व्यवस्था को देखते हुए मंडावर, महुवा, सलेमपुर थाना पुलिस सहित पुलिस उपाधीक्षक शंकर लाल मीणा भी मौजूद थे। इस मौके पर शानू मम्मू खान, अजय बौहरा, आसिफ खान, सादिक सैफी, जावेद खान, हसमुद्दीन, हरिओम दीक्षित, रफीक खान, इरफान खान, आरिफ खान व बबलू खान सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे।