स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रामगढ़ पचवारा की उम्मीदों को लगे पंख

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Nov 18, 2019 08:17 AM | Updated: Nov 18, 2019 08:17 AM

Dausa

Ramgarh Pachwara got Panchayat Samiti status: रामगढ़ पचवारा को मिला पंचायत समिति का दर्जा, ग्रामीणों में खुशी की लहर

लालसोट. प्रदेश में आगामी कुछ महिनों में होने वाले पंचायत चुनावों से पूर्व हुए पंचायत पुनर्गठन में रामगढ़ पचवारा को पंचायत समिति का दर्जा दिए जाने से क्षेत्र के लाखों ग्रामीणों की वर्षों पुरानी उम्मीद पूरी हो गयी है। पंचायत समिति का दर्जा मिलने के बाद लोगों की उम्मीदोंं के भी पंख लगने लगे हैं।क्षेत्र के ग्रामीणों को उम्मीद है कि अब तक काफी पिछड़ा माने जाने वाले रामगढ़ पचवारा को पंचायत समिति का दर्जा दिए जाने से पूरे क्षेत्र में विकास के नए द्वार खुलेंगे।

Ramgarh Pachwara got Panchayat Samiti status

रामगढ़ पचवारा क्षेत्र को लालसोट विधानसभा क्षेत्र की राजनीति में उचित प्रतिनिधित्व नहीं मिलने से अब तक यह क्षेत्र विकास की दृ़ष्टि में काफी पिछड़ा रहा है। प्रदेश में वर्ष 1951 से लेकर 2018 तक हुए 15 विधानसभा चुनावों में मात्र दो बार ही पचवारा क्षेत्र का वाशिंदा लालसोट के विधायक की कुर्सी पर बैठा है।

लालसोट विधानसभा सीट से पचवारा क्षेत्र से सबसे पहले डूंगरपुर गांव निवासी रामसहाय मीना सन 1962 में एवं इसके बाद सोनड़ गांव निवासी रामसहाय सोनड़ सन 1980 में विधायक चुने गए है।इन दोनों के अलावा आज तक इस क्षेत्र से एक भी नेता को लालसोट विधायक की कुर्सी नसीब नही हुई है।

इसके अलावा लालसोट पंचायत समिति के प्रधान की कुर्सी पर भी मात्र एक बार ही इस क्षेत्र का मौका मिला है। सन 1995 में इस क्षेत्र के निवासी फैलीराम मीना प्रधान पद पर काबिज हुए थे। लालसोट की राजनीति में इस क्षेत्र की पकड़ कमजोर होने का असर इस क्षेत्र के विकास पर भी पड़ा है।


ये उम्मीदें है रामगढ़ पचवारा की...


रामगढ़ पचवारा क्षेत्र में पग पग पर समस्याओं का अंबार खड़ा है। यह पूरा क्षेत्र कृषि पर आधारित होने के बाद भी यहां के किसान को अपनी फसल बेचने के लिए लालसोट मंडी में जाना पड़ता है, अब ग्रामीणों को यहां कृषि उपज मंडी भी खुलने के आसार बंधे है। क्षेत्र में पेयजल का गंभीर संकट व्याप्त है, बीसलपुर पेयजल योजना का पानी क्षेत्र की सीमा पर जयपुर जिले के गांवों तक तो पहुंच गया, लेकिन रामगढ़ पचवारा की जनता को यह पानी नसीब नहीं हो पाया। ऐसे में अब उम्मीद बंधी है कि क्षेत्र की जनता को पेयजल संकट से भी निजात मिलेगी।

इसके अलावा क्षेत्र की जनता आज भी आवागमन के लिए सरकारी बस सेवा से वंचित है और क्षेत्र के ग्रामीण निजी बसों में ही सफर करने पर मजबूर हंै। रामगढ़ पचवारा कस्बे में एक भी राष्ट्रीय बैंक की शाखा नहीं होने से ग्रामीणों को बैंक संबधी काम के लिए लालसोट व अन्य जगहों पर जाना पड़ता है।ऐसे में ग्रामीणों को उम्मीद है कि पंचायत समिति का दर्जा मिलने के बाद यहां शीघ्र ही किसी राष्ट्रीय बैंक की शाखा भी खुलेंगी। इसके अलावा ग्रामीणों को क्षेत्र में चिकित्सा व शिक्षा के क्षेत्रों में भी विकास की बड़ी उम्मीदें हैं।


क्या आशाएं है क्षेत्र के लोगों को


1. मोहनलाल सोनी:- रामगढ़ पचवारा निवासी मोहनलाल सोनी ने बताया कि पंचायत समिति का दर्जा मिलने के बाद अब पूरे क्षेत्र में विकास की गंगा बहेगी। पंचायत समिति कार्यालय खुलने से क्षेत्र में व्यापार की नई संभावनाएं पैदा होगी, व्यापार बढऩे से क्षेत्र में आर्थिक सृमद्धि भी आएगी। ग्रामीणों की समस्यों का त्वरित समाधान भी होगा। एलएम

2. विष्णु शर्मा :- क्षेत्र केेे बीलका गांव निवासी विष्णु शर्मा ने बताया कि पंचायत समिति का दर्जा मिलने से यहां सभी विभागों के ब्लॉक स्तरीय कार्यालय भी खुलेंगे। ग्रामीणों की रामगढ़ पचवारा क्षेत्र में आवाजाही होने से युवाओं को रोजगार के अवसर भी बढेंग़े। युवाओं को अब पंचायत समिति के कामोंं के लिए लालसोट के चक्कर नही काटने पडं़ेगे।


3. मालू सिंह सोनड़:- क्षेत्र केेे सोनड़ गांव निवासी मालू सिंह ने बताया कि सन 1980 में उनके बाबा रामसहाय सोनड़ इस क्षेत्र से लालसोट विधायक को चुनाव जीत कर विधानसभा में पहुंचे थे।उन्होंने हमेशा इस क्षेत्र में विकास के नए आयाम स्थापित करने के प्रयास भी किए थे। अब रामगढ पचवारा को पंचायत समिति का दर्जा मिलने उनके बाबा के अधूरे सपने शीघ्र ही पूरे होंगे ।

4.रामबिलाश जांगिड़ :- रामगढ पचवारा निवासी वयोवृद्ध कांग्रेस नेता रामबिलाश जांगिड़ ने बताया कि क्षेत्र की जनता का बीस साल पुराना सपना अब साकार हुआ है। पंचायत समिति का दर्जा मिलने से पूरे क्षेत्र में भरपूर विकास होगा, रामगढ पचवारा ग्राम पंचायत मुख्यालय भी क्षेत्र की गतिविधियों का एक बड़ा केंद्र के रुप में स्थापित होगा। ग्रामीणों को अपनी समस्याओं के निदान के लिए लालसोट नही जाना पड़ेगा। प्रधान यही पर बैठने से आमजन की समस्याओं का त्वरित समाधान भी होगा।


5 विनोद मीना :- रामगढ़ पचवारा कस्बे के युवा विनोद मीना ने बताया कि पंचायत समिति का दर्जा मिलने के बाद क्षेत्र में शिक्षा, चिकित्सा समेत सभी क्षेत्रों में भरपूर विकास होगा और आने वाले दिनों मेें यह क्षेत्र विकास के नए आयाम स्थापित भी करेगा।


6 सीताराम मीना :-बीछा निवासी सीताराम मीना ने बताया कि यह पूरा क्षेत्र कृषि प्रधान है। यहां केे ग्रामीणों के पास कृषि ही एक मात्र रोजगार का जरिया है, ऐसे में पंचायत समिति का दर्जा दिए जाने के कृषकोंं को बड़ी राहत मिलेगी। कृषि विभाग व अन्य कृषक संबंधी विभागों योजनाओं का भी त्वरित लाभ मिलेगा।

Ramgarh Pachwara got Panchayat Samiti status

[MORE_ADVERTISE1]