स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गांव की सरकार चुनने के लिए बूथों पर कतार

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Jan 17, 2020 09:05 AM | Updated: Jan 17, 2020 09:05 AM

Dausa

Queues at booths to choose village government: बसवा पंचायत समिति की 18 पंचायतों में मतदान के बाद मतगणना और फिर जारी होगा परिणाम

बांदीकुई/बसवा. पंचायत समिति बसवा के अधीन आने वाली 18 ग्राम पंचायतों में प्रथम चरण के चुनाव के लिए शुक्रवार को सरपंच व वार्ड पंचों के लिए मतदान शुरू हो गया। सुबह से ही बूथों पर मतदाताओं की कतारें लग गई। मतदान के लिए पुलिस व प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा के बंदोबस्त किए गए हैं। 18 ग्राम पंचायतों में कुल 84 बूथ बनाए गए हैं। जहां प्रत्येक बूथ पर पुलिस के जवान तैनात रहेंगे और वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी।

Queues at booths to choose village government

18 ग्राम पंचायतों में कुल सरपंच पद के लिए 166 प्रत्याशी एवं वहीं 173 वार्डपंच पदों के लिए 372 प्रत्याशी भाग्य आजमा रहे हैं। जबकि करीब 65 हजार 393 मतदाता मताधिकार का उपयोग करेंगे। इसमें 35 हजार 683 पुरुष व 30 हजार 710 महिला मतदाता शामिल हैं। वहीं 13 रिजर्व मतदान दल रखे गए हैं। शांति पूर्ण चुनाव के लिए 6 मोबाइल टीम एवं प्रत्येक बूथ पर दो का जाब्ता एवं बाहर 1-4 का जाब्ता तैनात किया जाएगा। वहीं 9 जोनल मजिस्ट्रेट भी लगाए गए हैं, जो मतदान से जुड़ी प्रभावी मॉनीटरिंग करेंगे। पुलिस व प्रशासन की ओर से भी मतदाताओं को निर्भिक व निडर होकर मतदान करने का आह्वान किया है।

पुलिस वृत्ताधिकारी संजयसिंह चम्पावत ने बताया कि यदि किसी मतदाता को कहीं कोई परेशानी हो। तो वे अवगत कराए। क्योंकि सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। बसवा थाना प्रभारी रामशरण एवं कोलवा थाना प्रभारी बनवारीलाल भी मतदान को लेकर क्षेत्र पर शांति व्यवस्था को लेकर पूरी तरह नजर बनाए हुए हैं।


चौपहिया वाहनों से बुलाए मतदाता


जिन ग्राम पंचायतों में मतदान होना है और वहां के मतदाता जयपुर, अलवर, भरतपुर एवं दिल्ली सहित अन्य जगहों पर रहते हैं। तो उन मतदाताओं को भी बुलाए जाने के लिए प्रत्याशियों ने ऐडी से चोटी तक का जोर लगा दिया है। सूत्रों के मुताबिक कुछ मतदाताओं को लेने के लिए तो प्रत्याशियों ने स्वयं के वाहन तक भेज दिए हैं। इन वाहनों से लाकर मतदान करने के बाद वापस छोडऩे तक की व्यवस्था की गई है।

Queues at booths to choose village government

ये व्यवस्था अधिकांश ग्राम पंचायतों में की गई है। क्योंकि प्रत्येक पंचायत में 50 से 100 मतदाता रोजगार बाहर होने के कारण शिफ्ट हो गए और उनके मत ग्राम पंचायतों में शामिल हैं। ये ही मत प्रत्याशियों की हार-जीत के लिए कारगर साबित होंगे। वहीं प्रत्याशियों के घरों पर लंगर भी चल रहे हैं। जहां कार्यकर्ता व अन्य लोगों को भोजन की व्यवस्था भी की गई।

Queues at booths to choose village government

[MORE_ADVERTISE1]