स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

धरना देकर आन्दोलन की चेतावनी दी

Rajendra Kumar Jain

Publish: Dec 10, 2019 11:25 AM | Updated: Dec 10, 2019 11:25 AM

Dausa

सरपंचों व ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन किया

महुवा. उपखण्ड क्षेत्र की ग्राम पंचायत बालाहेड़ी व गगवाना को नवगठित पंचायत समिति बैजूपाड़ा में जोड़े जाने को लेकर चल रहा धरना प्रर्दशन सोमवार को भी जारी रहा। सरपंचों व ग्रामीणों ने धरना देकर विरोध प्रदर्शन किया।
बालाहेड़ी सरपंच पूरण खींची, गगवाना सरपंच अशोक मीना ने बताया कि इन ग्राम पंचायतों को बैजूपाड़ा से जोडऩे पर लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ेगा। ग्राम पंचायतों को पुन: महुवा से नहीं जोड़े जाने तक धरना जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि मंगलवार को गगवाना, बालाहेड़ी व टुडियाना ग्राम पंचायतों के लोग मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री से मिल कर ज्ञापन देंगे। जिसे लेकर ग्राम पंचयतों के दर्जनों लोग मंगलवार को सुबह वाहनों से जयपुर के लिए रवाना होंगे। इस मौके पर विजय कुमार अग्रवाल, लेखराज, रामखिलाड़ी, अमरसिंह खिंची, उपसरपंच देवी सहाय, गिरधारी, रामसिंह, पुनित ताम्बी, ओमप्रकाश तांबी व रामस्वरुप सहित अन्य लोग मौजूद थे।

पंचायत मुख्यालय नहीं बनाया तो उग्र होगा आन्दोलन
कुण्डल . भेड़ोली गांव को ग्राम पंचायत मुख्यालय बनाने की मांग को लेकर गांव के ठाकुरजी मन्दिर पर चल रहा धरना सोमवार को भी जारी रहा। ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों और प्रशासन के खिलाफ नारे लगाकर प्रदर्शन किया।साथ ही मांग नहीं माने जाने पर बुधवार से आन्दोलन उग्र करने की चेतावनी दी है। उपसरपंच कालूराम पटेल ने बताया कि पंचायत परिसीमन के तहत निर्धारित मापदण्डों को पूरा करने पर प्रशासन द्वारा भेड़ोली को पंचायत का दर्जा दिया गया था, लेकिन आठ दिन बाद ही प्रशासन ने जनप्रतिनिधियों के दबाव के चलते निर्धारित मापदण्डों को पूरा नहीं करने के बावजूद भेड़ोली के स्थान पर निमाली को पंचायत मुख्यालय का दर्जा दे दिया।
ग्रामीणों ने बताया कि भेड़ोली गांव पंचायत में शामिल किए गए सभी गांवों का केन्द्र और दौसा-बांदीकुई एमडीआर - 48 पर स्थित सर्वसमाज के लोगों का गांव है। जबकि निमाली एक जाति विशेष का गांव है।
ग्रामीण गोपाल व्यास ने बताया कि पंचायत मुख्यालय में परिवर्तन कर खडक़ा, जामा और भेड़ोली गांव के ग्रामीणों के साथ कुठाराघात किया है। भानु गुप्ता, जगदीश सैनी ने बताया कि बताया कि जिला कलक्टर के समक्ष आपत्ति दर्ज करवाने के बाद व निर्धारित मापदण्डों को पूरा करने के बाद भी पंचायत मुख्यालय को बदल दिया गया। आन्दोलन को चलते हुए 11 दिन बीत चुके हैं, लेकिन आज तक मौके पर कोई भी अधिकारी नहीं पहुंचा। उनकी अनदेखी की जा रही है। घीसी देवी, ममता देवी, सीमा देवीे ने बताया कि बुधवार से उग्र प्रदर्शन किया जाएगा।

[MORE_ADVERTISE1]