स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुलिसकर्मी रखें वर्दी की मर्यादा-ज्ञानसागर

Rajendra Kumar Jain

Publish: Dec 12, 2019 21:22 PM | Updated: Dec 12, 2019 21:22 PM

Dausa

पुलिस लाइन में जैन मुनियों ने किया संबोधित

जिला कारागृह में प्रवचन आज
दौसा. जैन आचार्य ज्ञानसागर ने कहा कि आज अधिकांश व्यक्ति तनावों से ग्रसित है।तनावों से छुटकारा पाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति अपने भीतर धर्म की ज्योति जलाएं। वे गुरुवार को पुलिसलाइन लाइन में पुलिसकर्मियों व अन्य लोगों को संबोधित कर रहे थे।उन्होंने पुलिसकर्मियों को नसीहत दी कि इस वर्दी की मर्यादा रखें। जीवन में ऐसा कोई कार्य ना करे,ं जिससे वर्दी को लज्जित होना पड़े। कभी भी अपने डण्डे का दुरुपयोग न करें। इसे अपराधी पर ही चलाएं बेसहारा व निर्दोष पर नहीं।

Policemen should keep the dignity of uniform - Gyanasagar..... उन्होंने पुलिसकर्मियों को नशीले पदार्थों के सेवन से दूर रहने के लिए प्रेरित भी किया। मुनि ज्ञेय सागर ने भी प्रवचन में धर्म की राह पर चलने का संदेश दिया।
पुलिस अधीक्षक प्रहलादसिंह कृष्णिया ने कहा कि जैन मुनियों ने पुलिस लाइन आकर इस धरती को धन्य कर दिया। जैन समाज की ओर से सभी लोगों को धर्म की नि:शुल्क पुस्तकें वितरित की गई। संचालन एडवोकेट सुधीर जैन ने किया। इस मौके पर डिप्टी एसपी नरेन्द्र कुमार, पूर्व डीआईजी अनिल जैन, ब्रह्मचारिणी अनिता दीदी, एडवोकेट राजेन्द्र जैन , प्रकाशचंद जैन, राजाबाबू, आलोक जैन, अजीत चांदवाड, विमल चांदराना सहित कई लोग मौजूद थे।

Policemen should keep the dignity of uniform - Gyanasagar....इससे पहले जैन मुनियों के मंगल प्रवेश पर जैन समाज के प्रवक्ता प्रतीक जैन ने बताया कि जैन समाज के लोग कलक्टेट सर्किल पहुंचे। पुलिस लाइन में कार्यक्रम के बाद जैन समाज के लोग मुनियों को गाजे बाजे के साथ नाचते गाते हुए आदिनाथ मंदिर लेकर पहुंचे। रास्ते में जगह जगह पुष्पवर्षा कर, आरती उतारकर व पाद प्रक्षालन किया।प्रवक्ता प्रतीक जैन ने बताया कि जैनाचार्य ज्ञानसागर व मुनि ज्ञेय सागर शुक्रवार को जिला कारागृह में कैदियों को संबोधित करेगें। गौरतलब है कि मुनि अब तक 90 से ज्यादा जेलों में कैदियों को संबोधित कर चुके हैं।

[MORE_ADVERTISE1]