स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पौधे होंगे तो मानव जीवन बचेगा

Rajendra Kumar Jain

Publish: Aug 21, 2019 11:26 AM | Updated: Aug 21, 2019 11:26 AM

Dausa

tree plantation - पत्रिका का हरयाव्ठो राजस्थान कार्यक्रम

गुढ़लिया-अरनिया. राजस्थान पत्रिका के हरयाव्ठो राजस्थान कार्यक्रम के तहत मंगलवार को राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय कोलवा में पौधारोपण किया गया।
tree plantation... इस मौके पर 101 पौधे लगाए गए, वहीं छात्रों एवं ग्रामीणों को पौधों की सुरक्षा एवं सार-संभाल किए जाने की जिम्मेदारी सौंपी गई। सहायक कृषि अधिकारी बनवारीलाल शर्मा ने कहा कि पौधों से छाया, फल, ईंधन, दवाई एवं शुद्ध ऑक्सीजन मिलती है। ऐसे में पौधे होंगे तो मनुष्य जीवन सुरक्षित रहेगा। उन्होंने औषधीय पौधे लगाए जाने के लिए प्रेरित किया।
tree plantation... उन्होंने कहा कि पत्रिका की ओर से चलाया जा रहा यह अभियान सराहनीय है। आमजन को भी जागरूक होकर ऐसे अभियानों में बढ़-चढकऱ हिस्सा लेना चाहिए। पंचायत शिक्षा अधिकारी पृथ्वीराजसिंह ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को शादी की साल गिरह, जन्म दिन पर पौधे लगाकर उन्हें संभालकर बड़ा करना चाहिए। जो कि एक यादगार के रूप में विकसित हो सकें।
tree plantation.... इस मौके पर कोलवा थाना एएसआई पुखराम मीणा, कांस्टेबल इन्द्र कुमार, सहायक कृषि अधिकारी गुढ़ाकटला घासीलाल मीणा, सेवानिवृत प्रधानाचार्य मुनीमसिंह, बजरंगसिंह राठौड़, मोहनसिंह, प्रहलाद गुर्जर, रामसिंह मीणा, भवानीसिंह, गरिमा पारीक, बनवारीलाल शर्मा, राजेन्द्र मीणा, निर्मल शर्मा, चन्द्रप्रकाश, शैलेन्द्र कुमार, नरेन्द्र कुमार, नाथूसिंह, रामबाबू सोनी एवं कृष्णा देवी ने भी पौधरोपण किया।

सिण्डोली में पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित
कुण्डल. पत्रिका के जनसरोकार कार्यक्रम की श्रृंखला के अन्तर्गत हरयाळो राजस्थान कार्यक्रम के तहत मंगलवार को आदर्श राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सिण्डोली में पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित हुआ।
tree plantation.... शुरुआत प्रधानाचार्य राजेन्द्र प्रसाद सैनी, सरपंच भौंरीलाल मीना ने की। व्याख्याता गरिमा शर्मा ने कहा कि पौधों से हमें प्राणवायु मिलती है। सरपंच भौंरीलाल मीना ने कहा कि आधुनिक युग में बढते प्रदूषण से आगामी पीढ़ी और वातावरण को प्रदूषित होने से बचाने के लिए पौधे लगाना अति आवश्यक है।
शारीरिक शिक्षक विनोद कुमार शर्मा, धुलेश्वर मीना, मदनलाल जाट, सतीश कुमार शर्मा, इन्दू शर्मा, गंगासहाय मीना, देवेन्द्र राजावत, राकेश भारद्वाज, कल्याणसहाय मीना, कृष्ण मीना ने भी विचार व्यक्त किए।