स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शांतिपूर्ण धरना हुआ उग्र, सड़क मार्ग किया जाम

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Dec 12, 2019 10:00 AM | Updated: Dec 12, 2019 10:00 AM

Dausa

Peaceful strike ensued, road jammed: ग्राम पंचायत भेड़ोली के स्थान पर निमाली को पंचायत मुख्यालय का दर्जा देने से ग्रामीणों में आक्रोश

कुण्डल. पंचायत परिसीमन के संशोधित आदेश के बाद नवसृजित ग्राम पंचायत भेड़ोली के स्थान पर निमाली को पंचायत मुख्यालय का दर्जा देने से भेड़ोली, खड़का एवं जामा गांव के ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीण पिछले 14 दिनों से शांतिपूर्ण तरीके से धरना-प्रदर्शन कर संशोधित आदेश को निरस्त कराने की मांग कर रहे थे, लेकिन उस दौरान मौके पर किसी भी प्रशासनिक अधिकारी के नही पहुंचने से नाराज ग्रामीणों ने बुधवार को दौसा-बांदीकुई वाया कुण्डल सड़क मार्ग को जाम कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारे लगाए।

Peaceful strike ensued, road jammed


भेड़ोली में जाम लगाने से कुण्डल व कालोता तक वाहनों की लम्बी कतारें लग गई। मौके पर पहुंची कोलवा थाना पुलिस ने समझाइश कर जाम खुलवाने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीण मौके पर प्रशासनिक अधिकारियों को बुलाने की मांग पर अड़ गए। पुलिस द्वारा काफी देर तक समझाइश करने के बाद लोगों ने पांच दिन का समय देते हुए जाम खोल दिया। जाम खुलने के बाद राजमार्ग पर फंसे यात्रियों ने राहत की सांस ली। कालोता उपसरपंच कालूराम पटेल ने बताया कि भेड़ोली, खडक़ा और जामा के ग्रामीणों में भेड़ोली को हटाकर निमाली को पंचायत मुख्यालय बनाने पर जनप्रतिनिधियों के प्रति नाराजगी है।

Peaceful strike ensued, road jammed

महुवा(मण्डावर). ग्राम पंचायत बालाहेड़ीको नवसृजित पंचायत समिति बैजूपाड़ा में जोडऩे के विरोध में धरना 10 वें दिन भी जारी रहा। धरने में महेश गुप्ता, पप्पू राम गहलोत, पूरन बैरवा, लेखराज, रमेश चंद्र मीणा सहित दर्जनों लोग मौजूद थे।

मनरेगा संविदा कार्मिकों की हड़ताल जारी


लालसोट. नियमित करने की मांग को लेकर 7वें दिन भी बुधवार को मनरेगा संविदा कार्मिकों ने सामूहिक अवकाश लेकर हड़ताल रखी। इस कारण पंचायत समिति परिक्षेत्र के विभिन्न गांवों में मनरेगा कार्य प्रभावित हो रहे हैं। श्रमिकों को रोजगार के लिए मस्टररोल जारी नहीं हो रही है, वहीं समय पर मजदूरी का भुगतान नहीं हो पा रहा है। मनरेगा संविदा कर्मियों की टोंक मुख्यालय पर चल रहे धरना-प्रदर्शन में भी पंचायत समिति लालसोट में कार्यरत संविदाकर्मी भी भाग ले रहे हैं। कर्मियों ने बताया कि राÓय सरकार ने उन्हें नियमित करने का आश्वासन दिया था, लेकिन अभी तक ध्यान नहीं दिया जा रहा है।(नि.सं.)

[MORE_ADVERTISE1]