स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मरीजों व परिजनों ने किया प्रदर्शन

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Dec 11, 2019 10:02 AM | Updated: Dec 11, 2019 10:02 AM

Dausa

Patients and family members angry: मोड़ा बालाजी पीएचसी में चिकित्सक लगाने की मांग

दौसा. सरकार एक और स्वास्थ्य विभाग पर लाखों रुपए खर्च कर नई - नई पीएचसी आदि खोलकर आम जन को लाभ पहुंचाने कार्य कर रही है, वहीं दूसरी चिकित्सा प्रशासन की अनदेखी के चलते लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ नजर आ रहा है। वहीं शहर के सैंथल मोड़ मोड़ा बालाजी स्थित शहरी पीएचसी पर स्टाफ के अभाव में मंगलवार सुबह आसपास के स्थानीय लोगों ने हंगामा कर प्रदर्शन किया व चिकित्सा प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए।

Patients and family members angry


लोगों ने बताया कि पिछले दो माह से चिकित्सालय पर चिकित्सक नहीं आने से मरीजों को बैरंग ही लौटना पड़ रहा है। जबकि पहले जब यहां चिकित्सक कार्यरत था उस वक्त इस पीएचसी का आउटडोर 250 से ऊपर था, लेकिन अब मात्र 50 से 60 ही रह गया है। सामान्य बीमारी के मरीज को खांसी, जुकाम व बुखार की दवाई तो चिकित्सक के अभाव में नर्सिंगकर्मी से जाते हैं, लेकिन अन्य बीमारियों के इलाज के लिए लोगों को जिला अस्पताल में चक्कर काटने पड़ते हैं। सूत्रों ने बताया कि यहां पर रिकॉर्ड में चार चिकित्सक लगा रखे हैं, लेकिन आता एक भी नहीं है।


चिकित्सा सूत्रों के मुताबिक डॉ. भूपेन्द्र मीना को बापी से सोमवार, मंगलवार व बुधवार के लिए व डॉ. असद अमद को गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार के लिए रखा है। डॉ. कौशल्या मीना को प्रत्येक गुरुवार व डॉ. एस.एन. खण्डेलवाल को प्रत्येक शुक्रवार के लिए लगा रखा है। लेकिन इन चिकित्सकों के नहीं आने से मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगों ने चिकित्सा प्रशासन से स्थाई डॉक्टर लगाने की मांग की है। सीएमएचओ डॉ. पूरण मल वर्मा ने बताया कि यहां पर एक चिकित्सक लगा दिया है। शीघ्र ही स्थाई समाधान कर दिया जाएगा।

Patients and family members angry

दीवारों पर गंदगी देख जताई नाराजगी


बांदीकुई. सहायक मुख्य वाणिÓय प्रबंधक एलआर मीणा ने मंगलवार को रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। जहां स्टेशन की दीवारों पर जमा गंदगी को देख नाराजगी जताई। स्टेशन कार्यालय के बाहर नाली पर लगी लोहे की जाली को दुरुस्त कर पानी निकास समुचित करने, स्टॉल व ट्रॉलियों के संचालकों को गुणवत्तायुक्त खाद्य वस्तुए यात्रियों को मुहैया कराए जाने के निर्देश दिए। इस मौके पर मुख्य वाणिÓय निरीक्षक मुकुट मीणा, मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक प्रदीप यादव, हैड टीसी डीपी शर्मा, राधेश्याम मीणा सहित अन्य रेलकर्मी मौजूद थे। (ग्रामीण)

[MORE_ADVERTISE1]