स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

वनकर्मियों को देख लोग छोड़ भागे रस्से व कुल्हाड़ी

Rajendra Kumar Jain

Publish: Nov 18, 2019 11:36 AM | Updated: Nov 18, 2019 11:36 AM

Dausa

- वन विभाग की कार्रवाई जारी

कुण्डल.

वनपाल नाका कुण्डल की ओर से क्षेत्र में पेड़ों की अवैध कटाई व बजरी खनन के खिलाफ की जा रही लगातार कार्रवाई से लोगों में हडक़म्प मचा हुआ है।
कुण्डल नाका के फोरेस्टर लोकेन्द्र सिंह गुर्जर ने बताया कि बजरी के अवैध खनन व पहाड़ी क्षेत्र से पेड़ों की कटाई करने वालो के खिलाफ वनपाल नाका कुण्डल की ओर से गठित टीम द्वारा लगातार कारवाई की जा रही है। टीम द्वारा दिन व रात्रि के समय में गश्त कर पहाड़ी क्षेत्र से पेडों की कटाई करने की आहट महसूस होते ही टीम मौके पर पहुंची।

टीम को आते देख कटाई करने वाले लोग कुल्हाड़ी व रस्से को मौके पर छोडकऱ भाग गए। टीम ने काफी दूर तक उनका पीछा भी किया, लेकिन घना जंगल होने के कारण वे कुछ दूरी के बाद आंखों से ओझल हो गए। टीम में शामिल वृक्षपालक दिग्विजय सिंह व रामप्रसाद गुर्जर ने मौके से दर्जनों कुल्हाड़ी व रस्से जब्त कर वनपाल नाका कुण्डल पर जमा किए। फोरेस्टर ने बताया कि अवैध रूप से कटाई करने वाले लोगों को रंगे हाथों पकडकऱ सजा दिलवाई जाएगी। वनक्षेत्र को नुकसान पहुंचाने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।


जुआ खेलते दो गिरफ्तार
लालसोट. रामगढ़ पचवारा थाना पुलिस ने बीड़ोली गांव से दो जनों को ताश पत्ती से जुआ खेलते गिरफ्तार कर लिया। थाना प्रभारी अशोक झांझडिय़ा ने बताया कि विनोद बैरवा व राहुल बैरवा को जुआ खेलते गिरफ्तार कर 3सौ 80 रुपए की नकदी भी जब्त की। (नि.प्र.)

अण्डरपास में फंसी नीलगाय, लोगों ने निकाला
बसवा. कस्बे मे रेलवे स्टेशन के पास बन रहे अण्डरपास के बीच गार्डरों में नील गाय का एक बच्चा फंस गया। जिसे लोगों ने बड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला। रेलवे स्टेशन व फाटक संख्या 149 के बीच अण्डरपास का निर्माण कार्य चल रहा है। रविवार सुबह नील गाय का एक बच्चा अण्डरपास पर लगी लोहे की गार्डरों के नीचे फंस गया। मौके पर पहुंचे लोगों ने करीब एक घंटे की मेहनत के बाद उसे बाहर निकला। पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. आंनद कोली, वनकर्मी जगदीश शर्मा ने नीलगाय का चिकित्सालय में उपचार किया। पूरण मीणा, बबलू भगत, शंकर योगी, महेश योगी आदि थे



[MORE_ADVERTISE1]